काय माफी पावे क? हमि परमेसुरस कईसे म माफी पावे क सकत हई?



प्रश्न: काय माफी पावे क? हमि परमेसुरस कईसे म माफी पावे क सकत हई?

उत्तर:
(प्रेरितों के काम 13:38) घोषित करत है, है भाइयो तु जान लो कि ई यीशु क जरिये पाप क माफ़ी क समाचर तुहि देहि गवा हई।

माफ़ी काय है हमि काय जरूरत हई।?

सब्द "माफ़ी "मतलब तख्तती क साफ स पोछे के साफ करें माफ़ी करि उधर क गलत या खरब क्र देहि गवा है। जब हमि कईसे कि पारित कुछ गलत करई हैं| त हमि उइ ्माफि पवे क कोशिश करें हई तकि हमर समनब्द फिर से बन जाइ । इ खातीर पावे नइ क जाइ क जत हई काहेकि कोउन माँनई माफी पावे क लायक हई। क कोउन भी माफ़ी पावे क लायक नई हई । माफ़ी पियर दया अउर अनुग्रहरह क इक कामन है। माफ़ी अन्य मनाई क बिरोध मा कुछ भी पकड़े रखि क पारित एक फ़ैसला हई चाहे उइ अपन क पारित कुछ भई कोय न किहिन हई।

बाईबल हमि ब तवत हैं ।की हमि सबै परमेसुर स माफ़ी करि क जरूरत हई। हमि सबै न पाप किहिन हइ । सभोउपदेक 7:20 घोषणा करि है क़ि “नि:संदेह धरति पे इसन कोउन धरमी मनाई नई ज भलिई ह करें अउर जे स पाप नइ होइ है” |(1यूहन्ना 1:8) कहिन हैं, “इहि हमि कहे कि हमि मा कुछ पाप नइ त अपन आप क धोखा देत हई”| अउर हमरि मा सच्चई नइ । सबै पाप आखिरकार परमेसुर क बिरोध इक बिद्रोह क कामन हई (भजन सहीता 3:36) |प्रतिफल रूप त् हमि परमेसुर क माफ़ी अधिक जरुरत हई। इहि हमार पाप माफ़ी नई हैं| त हमि अनगिनित समय त क अपन पाप क प्रतिफल क दुःख पाईब (मत्ती 25:46) (यूहन्ना 3:36) |

माफ़ी हमि कइसे मिल पाई हैं

धन्यवाद क बात इहि है कि, परमेसुर पियर अउर दयलु हमि हमर पाप क माफ़ी करें क ख़ातिर तैयार हई। 2 पतरस 3:9 हमि बतवत हई कि "पे तउर बारे मा धी रज रखि हैं। अउर नइ चाहत कि कऊनो नास हों पर इहि की सबै क मन बदलि क मौका मिले”। परमेसुर हमि माँफि करें क मन रखते है इ खातीर उइ हमार खातीर माफ़ी हई।

हमरा पाप क खातीर न्याय उचीत दण्ड है। इक मौत हई। रोमियों 6:23 क सुरुवात भग इहि बतवत है काहेकि पाप क मजदुरी मौत हई ''अनगिनित मौत ही उइ है जे हमि अपन पपा क खतीर बतोरल हई। परमेसुर अपन पूरा योजना क हिसब से मनाई यीशु मसहि (यहन्ना 1:1;14) ब् न हई| यीशु सूली पे उइ दण्ड क लेवे त मरि ज लायक हमि रहा मतलब मौत । 2 कुरिन्थियों 5:21 हमि सिखवति हई कि उ के उइ हमारा खातीर पाप है कि हमि उइ मा हवे परमेसुर क धर्मिकता बन जय । यीशु सूली पे उइ दण्ड क लेवे क मरि जेके लायक हमि रहा । परमेसुर रूप मा यीशु क मौत सबे जगत क पाप क खतिर माफ़ी अ साधन हई। 1यूहन्ना 2:2 घोषणा करि हई, “और उइ हमर पाप क माफ़ी हई और एक हमार ही नइ बरन सबै जगत क पाप क भई” । यीशु मुर्दा मा से पाप अउर मौतबपे अपन जय घोसरना करें हई जी उठे 1 कुरिन्थियों 15:1-28 | परमेसुर क स्स्तुति हो यीशु क मौत अउर पुनुरूथन क जरिय, रोमियों 6:23 क दूसर हिस्सा सच्चाई ही गवा पर परमेसुर क दन हमर प्रभउ यीशु मसिह म अनगिनत जीवन है।

का आप अपन पाप क माफ़ी चाह हई?

काय आप अपराध् पूरा कि पीछे ज पडत वाले बिचर से ग्रीसहित है की स आप इसे छुट करा नई प सकत हई? आप के खातीर माफ़ी है। हई यी आप मुक्तिदाता क रूप मा यीशु मसहि मा अपन बिस्वस क रखे है । इफिसियो 1:7 कहिन है कि, हमि क उइ म ऊके खून क जरिये छुट करा मतलब मतलब क माफ़ी उइ उस अनुग्रह क ध न क हिसाब से मिल हई।, यीशु न हमर खातीर हमार कर्ज देहिं तकि हमि माँफि पवे के सकत है। आप बस इतना बिनती कर सकत है कि आप परमेसुर से इहि बिस्वास करें बिनती करें कि उइ आपु क यीशु क जरिय माफ़ी पावे क कहेकी हमर माफ़ी क दाम दे के मरि अउर उइ आप माफ़ी कर देहि है | यूहन्ना 3:16-17 मा इहि सुन्दर सन्देस मिला हई कि कहेक़ि परमेसुर न जगत स इसन पियर रखि की उइ अपन एकलुता बेटे देहि पर केहु उइ पे बिस्वास करि उ नास नइ होई पर अनगिनित जीवन पाई । परमेसुर न अपन बेटा के जगत मा इहि खतीर नइ भेजीं कि जगत पे दण्ड क आदेश दे। पर् इहि खतिर कि जगत उइ क जरिय मुक्तई पाई ।

माफ़ी क है ये के पवे सही म् इतना आसन हैं।

हा इ इतना आसन है। आप परमेसुर स माफ़ी क कम नहि सकत । आप परमेसुर क जरिय देहि गवा माँफि क दाम नइ देह सकत| आप इक ई बिस्वास क माध्यम स परमेसुर क अनुग्रह अउर द या क जरिय पवे सकत है। इहि आप यीशु मसहि क अपन मुक्तिदाता क रूप म ग्रहण करें क चहत है बी त इहि पर इक सरल परथाना क बोल आप नइ बचा सकत हई | इ परथाना य कोउन अउर परथाना क बोल आप बचा सकत हई। एक यीशु म बिस्वस हई ह जे आप क पाप स बचा सकत है । इहि परथाना उइ अपन विसवास क परकट करें अउर आप खतीर मुक्ति क साधन करें क खतिर धन्यवाद दे इक तरिक हई। हे परमेसुर हमि जनत है। की हमि न आप के बि रोधी पाप करि हई। और सजा क भगी दर हई। पर यीशु मसीह उइ सबक सजा खुद पे लेलीहन जे हमरा खतीर उइ पे बिस्वस करें के जरिय हमीं माफि कइल ज सकत हई। हमीं मुक्ति क अपन बिस्वास् क रखि हई। आप क अनोखा अनुग्रहहर त मफिन जे अनगिनत जीवन क उपहार है।क खतीर हमि धन्यबाद करि हई| अमिन |

जे कुछ अपन यहि पडी है कयो उ करन अपन मसहि क पीछे चले क निर्याय लिहल है? यहि इसन है त किरपा नी चे देहि हुआ “म आज क स्वविकर कर लेलाह” है। बटन क दा बीये ।



अवधी क मुख्य पेज पर वापस जाइए



काय माफी पावे क? हमि परमेसुरस कईसे म माफी पावे क सकत हई?