क्या मरण दे बाद जीवन हे?



ਗੁਰਮੁਖੀ

प्रश्न: क्या मरण दे बाद जीवन हे?

उत्तर:
मृत्यु दे बाद जीवन दा वजूद हेक सारी दुनिया कित्ते प्रश्न हे। अय्यूब अस्सां सारे नाल ए आखदे हुवे ग़ाल कित्ते कि, “आदमी जो स्त्री कलों पैदा से, ओ थोड़े डीई दा ते ड़ोख नाल भरा रहांदे। ओ फोल दे समान खिल्दे, वला तोड़ा वेंदे;ओ छांह दिन कली ढल वेंदे,ते किथई नि ठहरदा ...अगर आदमी मर वने तां क्या ओ वला जिन्दा सीसी” (अय्यूब १४:१-२, १४) । अय्यूब दी तरह ही, अस्सां सारे कूं हिन् प्रश्न दे नाल चुनौती मिली हे । असल एच मृत्यु दे बाद साडे नाल क्या शिंदे ? क्या साधारण तौर वेच सदा वजूद ही खत्म सी वेसी?क्या पृथ्वी जीवन हेक घुमण आले दरवाजे दी कली पृथ्वी उत्ते आवण ते हिन्दे कलों वापस वनण नाल आखिर एच व्यक्तिगत महानता कूं प्राप्त करणा मात्र हे? क्या हर कोई हेक झेझी झग उत्ते,या अस्सां अलग अलग जगह उत्ते वेसुं? क्या किथई सच एच स्वर्ग व् नरक हे?

बाइबल साकुं ड्सेंदी हे कि मृत्यु दे बाद ही बस जीवन काहनी, बल्कि अनन्त जीवन इतना महिमामय हे कि जीन्कुं कोई, “आँख काहनी डीठा, ते कन काहनी सुणा, ते जो बातें आदमी दे दिमाग एच वी काहनी आई, ओ ही हेन जो परमेश्वर अपणेह प्यार करण आले कित्ते तैयार किती हेन” (१ कुरिन्थियों २:९) । यीशु मसीह, शरीर एच परमेश्वर, पृथ्वी उत्ते साकुं हिन् हमेशा दी जिन्दगी दे वरदान कूं ड़ेवन कित्ते हई । “लेकिन ओ साडे ही अपराधों दे कारण घयल कित्ता गे, ओ साडे अधर्म दे कमों दे कारण कुचला गे; साड़ी ही शांति कित्ते हुंदे उत्ते ताड़ना पई हई, कि हुंदे कोड़े खावण नाल अस्सां ठीक सी सगुं” (यशायाह ५३:५) । यीशु हूं सजा कूं घेन गीधे जिन्दे अस्सां भागी हासे ते ओ अपणेह जीवन कूं साडे पापों दे हर्जाने कूं चुकाव्ण कित्ते बलिदान कर डीत्ते सी । तरय ज्यहाड़े दे बाद, ओ कब्र विचों जी उठदे हुवे अपणेह आप कूं मृत्यु दे उत्ते जीत्ता हुवा साबित कित्ते सी। ओ पृथ्वी उत्ते चालीस डीई तक रहे ते स्वर्ग वनण कलों पहले हजारों लोगों कूं डीखे। रोमियों ४:२५ आखदी हे कि, “ओ साडे अपराधों कित्ते पकड़वाया गे, ते साकुं धर्मी ठहरावण कित्ते जिलाया वी गे।”

मसीह दा वला जीवणा हेक पूरी तौर एच हेक लिखी हुई घटना हे। पौलुस प्रेरित लोगों कूं चुनौती डीत्ते सी कि ओ हुन्दी मान्यता दे कित्ते चश्मदीद गवाहों नाल प्रश्न करे, ते कोई वी हुन्दी सच्चाई दा सामना करण दे काबिल काहना हई। यीशु मसीह दा वला जीवणा विश्वास दा मुलभुत सबूत हे; मसीह कूं बस हुन्ना लोगों दी बड़ी फसल विचों पहला आदमी हई जो कि वला जीवण वास्ते जिलाये वेसेन। शारीरिक मृत्यु हेक आदमी,आदम, दे नाल आई, जिन्दे नाल अस्सां सारे वास्ता रखेंदे हां। लेकिन साडे सारे कूं जो परमेश्वर दे परिवार एच यीशु मसीह एच विश्वास करण नाल गोद गीधे गे से कूं नव जीवण डीत्ता वेसी। (१ कुरिन्थियों १५:२०-२२) । जीवें परमेश्वर यीशु दे शरीर कूं जिलाये, ऊवे ही साडे शरीर वी यीशु मसीह दे दुबारा आवण नाल जी वेसेन (१ कुरिन्थियों ६:१४) ।

हालाँकि अस्सां सारे आखिर एच जिलाये वेसुं, लेकिन साडे विचों हर कोई स्वर्ग वेच काना वेसी। हरेक आदमी कूं हिन् जीवण एच हेक चुनाव कूं करणा हे ते ए चुनाव हरेक दे अनन्तकाल दी मंजिल कूं पक्का करेसी। बाइबल आखदी हे कि साडे कित्ते हेक वार मरणा ते हुंदे बाद न्याय दा होणा कामिल कित्ता गे (इब्रानियों ९:२७) । ओ जिनाह कूं यीशु मसीह एच विश्वास करण नाल धर्मी बनाया गे अनन्त जीवण कूं पासेन, लेकिन जो मसीह कूं उद्धारकर्ता दे रूप एच नी मन्दे हुनाकुं नरक एच अनन्त सजा भोगन कित्ते भेजा वेसी (मत्ती २५:४६) । नरक, स्वर्ग जीवें ही, बस वजूद एच राहव्ण दी स्थिति ही काहनी, बल्कि हेक पक्का स्थान हे । ए ओ स्थान हे जिथांह करे अधर्मी, परमेश्वर दे न खत्म सिवण आले, अनन्तकालीन गुस्से दा अनुभव करेसेन । नरक दा विवरण हेक एन्झे गड्ढे दे रूप एच कित्ता गे जो कड़ी खत्म काहनी सिन्दा (लुका ८:३१, प्रकाशित वाक्य ९:१) ते आग दी एंझी झील, जो गन्धक नाल ज्लदी पई हे, जिथांह करे राहावण आले कूं डीई ते रात, हमेशा हमेशा कित्ते सजा डीत्ती वेसी (प्रकाशित वाक्य २०:१०) । नरक एच, तेज ड़ोख व् गुस्से दा संकेत करेंदे हुवे, रोवणा ते डंदो कूं पिसणा पोसी (मत्ती १३:४२) । ओ भावनात्मक, शारीरिक यातनाए झेल्सेन, शर्म,खेद व् तिरस्कार कलों ज्यांड बोझ दे डूखी होंदे हुवे।

परमेश्वर दुष्ट दे मरण नाल खोश नी सिन्दा, लेकिन ओ चाहन्दा हे कि ओ अपणेह रास्तों कलों फिरेण ताकि ओ जीवित रहवेण (यहेजकेल ३३:१) । लेकिन ओ साकुं हिन्दे त्याग कित्ते मजबूर काहना करेसी; अगर अस्सां हुन्कू अस्वीकार करण कूं चुन्दे से, तां ओ सड़े कलों अनन्तकाल कित्ते अलग राहावण दे फेंसले कूं स्वीकार करेंदे । पृथ्वी उत्ते साडा जीवन, अगु आवण आली गहालों कित्ते परख हे । विश्वासियों कित्ते, मृत्यु दे बाद जीवन स्वर्ग वेच परमेश्वर दे नल हमेशा दा जीवन हे । अविश्वासियों कित्ते, मरण दे बाद जीवन दे अनन्तकाल कित्ते आग दी झील हे । अस्सां किवें मरण दे बाद अनन्तकाल दे जीवन कूं ते अनन्तकाल कित्ते आग दी झील कलों बच सग्दे से । हिन्दे कित्ते बस हेक ही रास्ता हे – यीशु मसीह एच विश्वास ते भरोसा करणा । यीशु आखे, “पुनरुथान ते जीवण मय ही हां, जो कोई मेढे उत्ते विश्वास करेंदे ओ अगर मर वी वने तोवी जीसी । ते जो कोई जिन्दा हे ते मेढे उत्ते विश्वास करेंदे, ओ अनन्तकाल तक काहना मर्सी...” (यहुन्ना ११:२५-२६) ।

हमेशा दी जिन्दगी दा मोफत इनाम साडे सारे कित्ते मजूद हे । “जो पोत्र उत्ते विश्वास करेंदे, हमेशा दी जिन्दगी हुन्दी हे; लेकिन जो पोत्र कू नी मनेदा, ओ जीवन कूं काहना डेख्सी, लेकिन परमेश्वर दा गुस्सा हुंदे उत्ते राहांदे “ (यहुन्ना ३:३६) । साकुं मरण दे बाद परमेश्वर दे उद्धार दे इनाम कूं स्वीकार करण दा अवसर काहनी डीत्ता वेसी। साड़ी अनन्तकालीन मंजिल साडे नाल यीशु मसीह कूं साडे पृथ्वी दे जीवनकाल एच स्वीकार या इन्कार दे नाल पक्की सिंदी हे । “मय तुवाकुं आखदा, हजेवी परमेश्वर दा अनुग्रह दा समय हे, हजे वी हूं उद्धार दा डीई हे (२ कुरिन्थियों ६:२) । अगर अस्सां यीशु मसीह दी मृत्यु कूं परमेश्वर दे खिलाफ़ साडे पापों दी कीमत कूं वेच चुकावण उत्ते विश्वास करेंदे से, तां न केवल साकुं पृथ्वी उत्ते हेक सही जीवन दा वादा मिलदे बल्कि मसीह दी महिमामयी हजुरी एच, मरण दे बाद एच हमेशा दी जिन्दगी वी मिलसी।

क्योंकि जो कोछ तुस्सां हिथांह पढ़े वे क्या हुंदे कारण तुस्सां मसीह दे पीछुं चलण दा फेंसला गीधा हे? अगर एन्झा हे तां दया कर दे तले डीत्ते हुवे “मय अज यीशु कूं मन गीधे मी” आले बटन कूं दबाओ।



मुलतानी दे मूल पेज उत्ते वापस वनों



क्या मरण दे बाद जीवन हे?