कि परमेश्वर सच्चाइया हको? कि परमेश्वर के सच्चाइया के कोय साबूत हको?



सवलबाः- कि परमेश्वर सच्चाइया हको? कि परमेश्वर के सच्चाइया के कोय साबूत हको?

जबबवाः-
परमेश्वर के सच्चाइया के साबित या सामन्य न कैला जा सक हो। बइबिलबा भी इ बताव है कि हमनी के विश्वसवा दूवारा इ बतीया के मान पड़तो कि परमेश्वर के सच्चाइया हको और बिना भरोसा के ओकर खुश न करेलगी नमउकीन हको कि काहे कि परमेश्वर के सामने आबे वाला के भरोसा करे परतो कि उ ह औउर अपन ढ़ूढ़े वाला के सफलवा मिल हको।(इब्रानियों 11:6)। अगर परमेश्वर के ऐही मजीर हलोत उ बस ओही व्यक्त होबे हको और पूरी दूनिया के साबित कर दे हको कि ओकर सच्चाइया हको। बाकी अगर उ ऐसन त उ फिर भरोसा के कोय जरूरत न होत हल। यीशुजी उनखा से कहलथुन तु हमरा देखलू ह एहीसे तो भरोसवा कैलीयो केतना अच्छा उ सव जे बिना देखल भरोसा कैल खीन ह।(यूहन्ना 20:29)।

एकर इ मतलब न हकै कि परमेश्वर के सच्चाइया के कोय साबित न हकै। बइबिलवा बताब हकै कि आसमानमा परमेश्वरवा के बड़ाई के बारे में बताब हकै आउर आसमानमडली ओकर हथवा के बनाबल के बारे में बताब हको। दिनमा से दिनमा में मिलापवा कर हको आउर रातवा से रतवा बुद्विया सिखाबा हथुन। न त कोय बोलिया है आउर न कोय भषवा जेकरा से ओकर कोय शब्दवा सुनाय न दे हकै। ओकर शब्दवा पुरी दुनियॉ में गुॅज हकै और ओकर वचनवा जगतीया के अंब तक पहुंच गेल ह।(भजन संहिता 19:1-4)। तरेगना के देखके इ ब्रहमाण्डवा के बड़का रूपवा से समझ हकीय की दूनियॉ के रचलका चीजवा के सोचते हकीय डुबते दुए सुरजबा के सुन्दरवा के देखके इ पुरा चीजवा एगो सृष्टि रचेवाला परमेश्वर की ओर से दिखावा हको। अगर इ ज्यादा न हकै त हमनी के अपन दिलवा में भी परमेश्वर लगी एगो साबित हकै। सभोपदेशक 3:11 हमरा बताब है कि उ आदमीयन के सोचवा में कहीयो खत्म् न होबे तक के बुद्विया दे देलकै। हमनी के अपन मनमा के अन्दर तक कोय एसन जानकारी है कि इ जिन्दगीया से अनजान भी कुछो हकै आउर इ दुनियॉ से अलग भी कोय हकै। हमनी के बुद्विया के बुद्विमनमा के रूपवा से असत्य बना सक हीय फिर भी हमर चारो पटी परमेश्वर की मौजुदगी सही तरह से बनल है। एकरा बाद भी बाइबिलवा हमनी के चेतावनीया दे हको कोय लोगवन तैयो परमेश्वर के सच्चाइया होबे के इनकार करहको भूखवा अपन आप मे सोच हकै कि कोय परमेश्वर हैये न है।(भजन संहिता 14:1)। काहेकि अभी कहल कहिया, सभे रीतिया-रिवजवा सभे सम्यताओं मे सभे महादवीपो में ज्यादा से ज्यादा आदमीयन के बहुमतवा कोय तरह से परमेश्वर सच्चाइया में भरोसवा रखहीयै, त इ भरोसवा के मान्य कुछो तो होतै।

परमेश्वर के सच्चाइया लगी बाइबिलवा पर निर्भर बहस करेवाला कोय एजा परी भी एगो बहस करेवाला भी हकै। पहले, दलीलवा तत्वमीमांसात्मकवा ह। तत्वविज्ञानीया दलीलवा के सर्वाधिकवा चर्चित रूपवा आधारभूतवा से उ विचारे के उपयोग करहीयै कि परमेश्वरवा के ही परमेश्वरवा के अस्तित्व के प्रणमा देवे के। उ परमेश्वर के बतीया शुरू से होतहल की उ एतना बड़का है कि ओकर बारे मे सोचल न जाहको की।

अब इ बतीय उठ के खड़ी होबे हको कि सच्चाइया में होबे ला ही सच्चाइया में न होबे से बड़ा हको औ इ एहीलगी सबसे बड़ा हको औ इ एहीलगी सबसे बड़का सोचे वाला मानव सच्चाइया में होबे के चाही। अगर परमेश्वर के सच्चाइया न हकै त परमेश्वर सबसे बड़का सोचे वाला मानव न हो सक है और इ बतिया परमेश्वर के परिभषवा के टुकड़ा कर दे हको।

दोसकरा बहस करे वाला। धार्मिक बहस करे वाला बोल हको कि कहेंकि ब्रहमण्डवा एगो एसन चडमा देखावे वाला हको एही लगी ओकरा पर कोय ईश्वरीय खाकाकार होवे के चाहि। डदाहरण के रूपवा में अगर धरतीया जानकर सूरजवा से कुछो सौ मीलवा नजदीकी या दूरीया पर होतहल तो उ जीवनमा के इ तरह से मददगार कर लगी होनी जैनवा उ अब के समय इवा मे कह हथीन। अगर हमर वातावरण में कुछ मिलावल चिजवा सजा नकलकी कुछ ही प्रतिस्तवा अलग हो ने न धरतीया पर लम्सम सारी जिवित मानव हि मरजे जैते। एओ एकल प्रोटीनमा के अणुआ के संयोगसे बनावे के संभावनमा 10243 मे से 1 होवा ह।( इसका अर्थ हकै कि 10 के बाद 243 शून्यों का आना)। एगो एकाले कोशिशवा लाखो अणुआ से मिल के बन हकै।

परमेश्वर के सच्चाइया के बारे में ज तीसरका निर्भर करेवाला दलीलवा हको उ ब्रहमाण्ठ संबंधितवा दलील हको। हर काम के पीछे कोय एक बहाना होबे के चाहि। इ ब्रहमण्डवा और एकरा में हर चीजवा के एगो सफलता हकैं। कोय न कोय एसन चीज होबे के चाहि कि ओकर चलते सच्चाइ में आ जाय। अंतिम में कोय चीजवा कारण रहित भी होबे के चाहिए ताकि और सबके चीजबा के सच्चाइया में आबे के चलते बनैं। उ कारण रहित चीजबा ही परमेश्वर हको।

चौथा दलीलवा नैतिक दलील के रूपवा से जानल जा हको। पहिले से ेअब तकल हर रिती रिवाजो के पास कोय न कोय तरह के व्यवस्था पहिले से अब तकल हर रिती रिवाजो के पास कोय होते अैयल ह। हर कोय जान कारी हकै सत्य और असत्य के बारे में। हत्यारा झूठा चोरी और अनैतिकता को लमसम पूरा दूनियॉ के उपकार करे के रूपवा में इनकार कैल जाता हैं। सत्य और असत्य का बोध अगर शुद्व परमेश्वर के साथ से न त फिर हु हॉ से अलखीन ह।

इ सबन के बाद में भी बइबिलवा हमनी के बताब हको कि लोगवन परमेश्वर को सही तथा इनकार कर देवै और एकर बावजूद एगो झूठवापर भरोसा कैलकै। रोमियों 1:25 बताब है कि उखन्ही परमेश्वर के सच्चइया के बदलकर झूठ बना देलकै और सृष्टिया के जपवा और सेवा करहै कि सृजनहार करीह जे सब दिन धन्य ह। आमीन।" बइबिलवा इ बताब हको कि परमेश्वर पर भरोसवा न करे लगी लोगवा के पास कोय बहनवा न हको। कहे कि ओकर अनदेखल गुणमा मतलब ओकर सनातन सामर्थ्य और परमेश्वर जगतीया के सृष्टिया के समयवा से ओकर कमवा दूवारा देखे में आब हको एजा तकल निरूत्तर हको।(रोमियों 1:20)।

लोगवन परमेश्वर के सच्चाइया के दावे के लगी इन्कार कर दे है काहेकि ओकरा वैज्ञानिकता नही ये हू या काहेकि एकर कोड़ साबित न हकै। लोगवन सच्ची बतीया इ हको कि एको बार लोगबन स्वीकार कर ले हथीन कि परमेश्वर है कि तो ओकरा के प्रति जिम्मेदरवा हको और ओकरा के परमेश्वर से माफीया मॉगे के जरूरतावा हको।(रोमियों 3:13; 6:23)। अगर परमेश्वर का सच्चाइया त फिर हमनी ओकरा लगी अपन कमा के प्रति जबाब देहिया हको। सही में परमेश्वर के सच्चाइया न हको त फिर से हमन जे चाहवो उ इ बतीय के परवाह न करहीयो की परमेश्वर हमनी के न्याय करेवाला हको। एही लगी उ लोगवन मे से ज्यादा से जे परमेश्वर के सच्चाइया के इन्कार कर हको प्राकृतिक तटकी के सिद्वान्तवा में शाक्तिया के साथ में भरोसवा करके सटलरह हकोइ उनखा एगो सृष्टि रचना करेवाला परमेश्वर में भरोसा करे के बदले में एगो विकल्पवा दे हको। परमेश्वर है और सबकोय जान हथीन कि परमेश्वर हकै। पूरा वाक्यवा इ है कि कुछो लोगवन ओकर सच्चाइया के असूह करेल इतना प्रयास करहै कि इ अपन आप ले ओकर सच्चाइया होबे लगी एगो दलील बन जा हको।

हमनी कैसे जानहीय कि परमेश्वर के सच्चाइया हकै ॽ मसीहीया विश्वसयन होबे के नाते हमनी जानही कि परमेश्वर के सच्चाइया है काहेकि हमनी हर दिनमा ओकरा से बतीया कर हीय। हमनी ओकरा के उॅचका अवजीया में हमनी से बोले लगी न सुन हीयै, बाकी हमरा के ओकर मौजुदगी होबे के महसूस होब है हमनी ओकर अगुचैइया महसूस करहीय हमनी ओकर प्रेमवा के जानहीयै हमनी ओकर अनुग्रहवा के अभिलाषी हकीए। हमनी के जिन्दगीया में एसन घटनमा घटल ह कि जेकर वर्णन परमेश्वर के बदले कोय न दे सक ह। परमेश्वर हमनी के बहुत ही ज्यादा आश्चर्यजनकवा रूपवा से बचैलकहल और हमनी के जवनमा के बदल देलकै कि हमनी ओकर सच्चाइया हे पहचान गेलीय और उनखर स्तुतिइया करेलगी और ओकर अलावा कुछन सकहीय। एकरा ये से कोयभी दलीलब अपन आप में केकरो भी प्रेरित न कर सहहु जे इ बतीया के पहचाने से मना कर हू जे कि पहले से एतना मानल जा हको। अन्तवा में परमेश्वर के सच्चाइया भरोसवा के दूवारा मानवा जा हको।(इब्रानियों 11:6)। परमेश्वर पर भरोसवा अंधेखा में अंधराल उड़ेके न हकै इ एक अच्छी तरह से प्रकाशित हमरा में सुरक्षित कदमा के जेजा पहिल से कि अधिकाशं लोगवन के सहमती में खड़ी होल हल।



मगहीया के अगला भगवा में लौट के जाहु।



कि परमेश्वर सच्चाइया हको? कि परमेश्वर के सच्चाइया के कोय साबूत हको?