विश्‍वव्यापी कलीसिया और स्थानीय कलीसिया में क्या भिन्नता है?



प्रश्न: विश्‍वव्यापी कलीसिया और स्थानीय कलीसिया में क्या भिन्नता है?

उत्तर:
विश्‍वव्यापी और स्थानीय कलीसिया में भिन्नता को समझने के लिए, एक व्यक्ति को दोनों की मूल परिभाषाओं को जानना अवश्य है। स्थानीय कलीसिया यीशु मसीह में विश्‍वास का अंगीकार करने वाले विश्‍वासियों का एक ऐसा समूह है जो नियमित रूप से किसी निश्चित स्थान आराधना के लिए इकट्ठा होता है। विश्‍वव्यापी कलीसिया विश्‍वव्यापी रूप से यीशु मसीह के सभी विश्‍वासियों से मिलकर बनी हुई है। शब्द कलीसिया का यूनानी शब्द का अनुवाद है जिसका अर्थ इकट्ठे मिलकर सभा करना या "सभा" से है (1 थिस्सलुनीकियों 2:14; 2 थिस्सलुनीकियों 1:1)। यह शब्द "बुलाए-हुओं" के रूप में विश्‍वासियों के उद्धार और पवित्रीकरण से सम्बन्धित परमेश्‍वर के कार्य से सम्बन्ध रखता है। एक और यूनानी शब्द जो स्वामित्व के लिए बात करता है और जिसका शाब्दिक अर्थ "प्रभु से सम्बन्धित" होना है, का लिप्यांतरण कलीसिया के रूप में किया गया है, परन्तु इसे नए नियम में केवल दो बार ही उपयोग किया गया है और कभी भी सीधे रूप में कलीसिया के लिए नहीं किया गया है (1 कुरिन्थियों 11:20; प्रकाशितवाक्य 1:10)।

एक स्थानीय कलीसिया सामान्य तौर पर उन सभी विश्‍वासियों की स्थानीय आराधना सभा को परिभाषित करती है जो मसीह में विश्‍वास व्यक्त करते और उसके प्रति निष्ठावान् हैं। अधिकत्तर, स्थानीय कलीसिया के संदर्भ में यूनानी शब्द इक्कलीसिया को संदर्भित किया जाता है (1 थिस्सलुनीकियों 1:1; 1 कुरिन्थियों 4:17; 2 कुरिन्थियों 11:8)। यह अवश्य नहीं है, किसी एक क्षेत्र में बस केवल एक ही विशेष स्थानीय कलीसिया हो। बड़े शहरों में कई स्थानीय कलीसियाएँ हो सकती हैं।

विश्‍वव्यापी कलीसिया वह नाम है जो विश्‍वस्तरीय कलीसिया को दिया गया है। इस घटना में कलीसिया का विचार स्वयं में आराधना सभा से नहीं है अपितु उन लोगों से है जिनके साथ मिलकर कलीसिया बनी हुई है। कलीसिया तब भी एक कलीसिया है जब वह किसी अधिकारिक आराधना सभा को संचालित नहीं कर रही होती है। प्रेरितों के काम 8:3, में, एक व्यक्ति देख सकता है कि कलीसिया तब भी कलीसिया होती है यहाँ तक जब इसके सदस्य अपने घरों में होते हैं। प्रेरितों के काम 9:31 में, विभिन्न स्थानों की कलीसियाओं के लिए हिन्दी एकवचन शब्द कलीसिया का उपयोग किया गया है, जो विश्‍वव्यापी कलीसिया को, न कि स्थानीय कलीसियाओं को वर्णित करता है। कई बार विश्‍वव्यापी कलीसिया को "अदृश्य कलीसिया" - कह कर पुकारा गया है, अदृश्य इस अर्थ में कि इसका कोई घरेलू पता, या राडार से पकड़ में आने वाला स्थान या भौतिक भवन नहीं है और इसका अर्थ यह है कि केवल परमेश्‍वर ही देख सकता है कि कौन सच में बचाया हुआ है। इसमें कोई सन्देह नहीं है, कि कलीसिया को कभी भी पवित्रशास्त्र में "अदृश्य" के रूप में वर्णित नहीं किया गया है, अपितु एक ऐसे शहर के रूप में, जो पहाड़ पर बसा हुआ है, जिसका निश्चित अर्थ दृश्य होना का है (मत्ती 5:14)। यहाँ पर और भी अधिक वचन दिए गए हैं जो विश्‍वव्यापी कलीसिया के बारे में बात करते हैं: 1 कुरिन्थियों 12:28; 15:9; मत्ती 16:18; इफिसियों 1:22-23; कुलुस्सियों 1:18



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



विश्‍वव्यापी कलीसिया और स्थानीय कलीसिया में क्या भिन्नता है?