इस्राएल के बारह गोत्र कौन से हैं?


प्रश्न: इस्राएल के बारह गोत्र कौन से हैं?

उत्तर:
इस्राएल के बारह गोत्र इस्राएल के बारह पुत्रों से आए थे। "इस्राएल" वह नाम है, जिसे परमेश्‍वर ने याकूब को दिया था (उत्पत्ति 32:28)। उसके बारह पुत्र रूबेन, शिमोन, लेवी, यहूदा, दान, नप्ताली, गाद, आशेर, इस्साकार, जबूलून, यूसुफ और बिन्यामिन हैं (उत्पत्ति 35:23-26; निर्गमन 1:1-4; 1 इतिहास 2:1-2) )। जब गोत्रों को प्रतिज्ञा की हुई भूमि में विरासत मिली, तो लेवी के वंशजों को स्वयं के लिए भूमि नहीं मिली (यहोशू 13:14)। इसकी अपेक्षा, वे याजक बन गए और पूरे इस्राएल में कई नगरों में बिखर गए। यूसुफ के गोत्र को दो भागों में विभाजित किया गया था- याकूब ने यूसुफ के दो पुत्रों, एप्रैम और मनश्शे को गोद लिया था, जो परिवार को अकाल से बचाने के लिए यूसुफ को उसकी विश्‍वासयोग्यता के लिए दोगुणा हिस्से को देने का कारण हुआ (उत्पत्ति 47:11-12)। इसका अर्थ यह है कि जिन लोगों के साथ प्रतिज्ञा की गई थी, उन्हें भूमि का भाग मिला, वे रूबेन, शिमोन, यहूदा, दान, नप्ताली, गाद, आशेर, इस्साकार, जबूलून, बिन्यामिन, एप्रैम और मनश्शे थे। पवित्रशास्त्र में कुछ स्थानों पर, एप्रैम के गोत्र को यूसुफ के गोत्र के रूप में उद्धृत किया गया है (गिनती 1:32–33)।

राजा सुलैमान के मरने के पश्‍चात्, इस्राएल दो राज्यों में विभाजित हो गया। दक्षिण में, यहूदा, जिसमें यहूदा, शिमोन और बिन्यामिन के गोत्र सम्मिलित थे। अन्य गोत्रों ने उत्तर में इस्राएल राज्य बनाने के लिए स्वयं को एक किया। इस्राएलियों को अश्शूरियों के द्वारा नष्ट कर दिया गया था, और इस्राएल के अधिकांश निवासी या तो मारे गए थे या निर्वासित कर दिए गए थे; इस्राएल के जो लोग बचे रह गए थे, वे यहूदा के राज्य में एकीकृत हो गए थे।

यीशु यहूदा के गोत्र से था, पौलुस बिन्यामिन के गोत्र से था, और बपतिस्मा देने वाला यूहन्ना एक लेवी था, परन्तु, ईस्वी 70 में प्रवास अर्थात् विखराव के पश्‍चात्, एक आधुनिक यहूदी जाति की पहचान करना थोड़ा सा कठिन हो गया है। इसका अर्थ यह नहीं है कि गोत्रों का विभाजन अप्रासंगिक हैं। क्लेश के समय, जब संसार के अधिकांश लोगों ने परमेश्‍वर को त्याग दिया है और मसीह विरोधी का अनुसरण कर रहे हैं, 144,000 यहूदियों को परमेश्‍वर के द्वारा मुहरबन्द कर दिया जाएगा। इस संख्या में प्रत्येक गोत्र से 12,000 सम्मिलित हैं। इसलिए, चाहे हम यह न जानते हों कि कौन किस गोत्र में से है, परमेश्‍वर ने उन पर दृष्टि बनाई हुई है। गोत्रों को एक बार फिर से प्रकाशितवाक्य 7:5-8 में सूचीबद्ध किया गया है, परन्तु वे वही गोत्र नहीं हैं, जिन्हें यहोशू में भूमि दी गई थी। मनश्शे, और एप्रैम (यूसुफ के नाम से) वहाँ है। परन्तु दान के स्थान पर लेवी को सम्मिलित किया गया है। ऐसा क्यों है, इसके लिए कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है।

English
हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
इस्राएल के बारह गोत्र कौन से हैं?