करों का भुगतान करने के बारे में बाइबल क्या कहती है?


प्रश्न: करों का भुगतान करने के बारे में बाइबल क्या कहती है?

उत्तर:
मत्ती 22:17-21 में, फरीसियों ने यीशु से एक प्रश्न पूछा: "'तो इसलिये हमें बता तू क्या सोचता है? कैसर को कर देना उचित है कि नहीं।' यीशु ने उनकी दुष्‍टता जानकर कहा, 'हे कपटियो, मुझे क्यों परखते हो? कर का सिक्‍का मुझे दिखाओ।' तब वे उसके पास एक दीनार ले आए। उसने उनसे पूछा, 'यह छाप और नाम किसका है?' उन्होंने उससे कहा, 'कैसर का।' तब उसने उनसे कहा, 'जो कैसर का है, वह कैसर को; और जो परमेश्‍वर का है, वह परमेश्‍वर को दो?'" इस कथन के साथ पूरी तरह से सहमत होते हुए प्रेरित पौलुस ने यह शिक्षा दी है कि, "इसलिये कर भी दो क्योंकि शासन करनेवाले परमेश्‍वर के सेवक हैं और सदा इसी काम में लगे रहते हैं। इसलिये हर एक का हक्‍क चुकाया करो; जिसे कर चाहिए, उसे कर दो; जिसे महसूल चाहिए, उसे महसूल दो; जिससे डरना चाहिए, उससे डरो; जिसका आदर करना चाहिए, उसका आदर करो" (रोमियों 13:6-7)।

ऐसा प्रतीत होता है कि स्थानीय और वैश्विक अर्थव्यवस्था में नागरिकों और प्रतिभागियों को करों के देना एक अन्त न होने वाली राशि है। कर अलोकप्रिय होते हैं, और कभी-कभी उन करों को इकट्ठा करने के आरोप में सरकारी एजेंसियों को घृणा के साथ देखा जाता है, चाहे वे भ्रष्ट हों या नहीं। यह कोई नई बात नहीं है। चुंगी लेने वालों के बारे में बाइबल के समय में अधिक अच्छा नहीं सोचा जाता था (मत्ती 11:19; 21:31–32; लूका 3:12–13)।

जितना अधिक हम करों से घृणा करते हैं, उतना ही अधिक कोई भी कर पद्धति भ्रष्ट और अनुचित हो सकती है, जितना अधिक हम यह विश्वास करते हैं कि ऐसी बहुत सी वस्तुएँ हैं, जिन्हें हमारे धन से सही किया जा सकता है, उतना ही अधिक - बाइबल की आज्ञाएँ, हाँ, में पाई जाती हैं कि हमें अपने करों का भुगतान करना है। रोमियों 13:1-7 यह स्पष्ट करता है कि हमें स्वयं को सरकार के प्रति समर्पित होना है। एकमात्र उदाहरण जिसमें हमें सरकार के प्रति आज्ञा की अवहेलना करने की अनुमति दी जाती है, वह यह है कि जब हमें कुछ ऐसा करने के लिए कहा जाता है, जो बाइबल के विरूद्ध हो। बाइबल करों का भुगतान करने से मना नहीं करती है। वास्तव में, बाइबल हमें करों का भुगतान करने के लिए प्रोत्साहित करती है। इसलिए, हमें परमेश्वर और उसके वचन के प्रति समर्पित होना चाहिए - और अपने करों का भुगतान करना चाहिए।

सामान्य रूप से कहना, करों का उद्देश्य समाज को लाभदायी रूप से चलाए रखने में सक्षम बनाने के लिए होता है। किसी की प्राथमिकताओं को ध्यान में रखते हुए, कर राजस्व को सदैव सबसे अच्छे उपयोग के लिए नहीं किया जा सकता है। करों का भुगतान करने में सबसे बड़ी आपत्ति यह है कि सरकार के द्वारा धन का दुरुपयोग किया जा रहा है या सरकार के द्वारा बुरे उद्देश्यों को पूरा करने लिए भी उपयोग किया जा रहा है। यद्यपि, यह हमारी चिन्ता का विषय नहीं है। जब यीशु ने कहा, "कैसर को दो...," तब रोमियों की सरकार किसी भी तरह से धर्मी सरकार नहीं थी। जब पौलुस ने हमें करों का भुगतान करने का निर्देश दिया, तो इतिहास के सबसे दुष्ट रोमन सम्राटों में से एक नीरो, सरकार का प्रमुख था। हम अपने करों का भुगतान तब भी करते हैं, जब सरकार परमेश्वर का सम्मान नहीं करती है।

हम कानूनी रूप से प्रत्येक उपलब्ध कर कटौती को लेने के लिए स्वतन्त्र हैं। हमारे द्वारा अधिकतम करों का भुगतान करना सम्भव नहीं है। यदि सरकार आपको कर में छूट देती है, तो आप इसे लेने के लिए स्वतन्त्र हैं। यदि कोई ऐसा कानूनी तरीका है कि आप अपने कुछ पैसे को कर में देने से बचा सकते हैं, तो आप उसका उपयोग करने के लिए स्वतन्त्र हैं। करों के अवैध और/या बेईमानी से भरे हुए तरीकों का इन्कार कर दिया जाना चाहिए। रोमियों 13:2 हमें स्मरण दिलाता है, "इसलिये जो कोई अधिकार का विरोध करता है, वह परमेश्‍वर की विधि का सामना करता है, और सामना करनेवाले दण्ड पाएँगे।"

मसीही विश्वासी जानते हैं कि हमारे पास जो कुछ भी है वह अन्ततः परमेश्वर का ही है। हम उसके भण्डारी हैं और हमें अपने पैसे और अन्य संसाधनों को अनन्त मूल्य की वस्तुओं में निवेश करने के लिए कहा जाता है। हमें अपने परिवारों के लिए प्रदान करने के लिए (1 तीमुथियुस 5:8) और उदारता से देने के लिए कहा जाता है (2 कुरिन्थियों 9:6–8)। बचाना भी बुद्धिमानी है (नीतिवचन 6:6–8) और स्वयं और परमेश्वर को उसके अच्छे वरदानों के लिए धन्यवाद देने के लिए पैसा खर्च करना पूरी तरह से स्वीकार्य है (याकूब 1:17; कुलुस्सियों 3:17)। करों का भुगतान करना एक नागरिक का कर्तव्य है, और मसीहियों को अच्छे नागरिक होने की बुलाहट दी गई है। परन्तु मसीही विश्वासी अन्ततः स्वर्ग के नागरिक हैं (फिलिप्पियों 3:20)। इस जीवन में अपने कर के बोझ को कम करना अनन्त काल के लिए परमेश्वर के राज्य में निवेश करने के अपने लक्ष्य के रूप में होना चाहिए।

English
हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
करों का भुगतान करने के बारे में बाइबल क्या कहती है?