मैं एक नया मसीही हूँ। अगला कदम क्या है?


प्रश्न: मैं एक नया मसीही हूँ। अगला कदम क्या है?

उत्तर:
बधाई हो! यदि आप एक नए मसीही विश्‍वासी हैं, तो आपने अपने अभी-अभी नए, अनन्त जीवन के आरम्भ का अनुभव किया है (यूहन्ना 3:16; 10:10)। आपके पापों को क्षमा कर दिया गया है और आपको एक नया आरम्भ दिया गया है (रोमियों 4:7)। अब आपको अतुलनीय, महिमामयी आनन्द को दिया गया है (1 पतरस 1:8-9)।

मसीह को जानने की अद्भुत आशीष के अतिरिक्त, आप कदाचित् सोच रहे हैं, "अब आगे क्या? अगला कदम क्या है? "बाइबल उन लोगों के लिए कुछ महत्वपूर्ण सिद्धान्त प्रदान करती है, जिन्होंने परमेश्‍वर के साथ अपने सम्बन्ध को आरम्भ किया है।

सबसे पहले, एक नए मसीही विश्‍वासी के नाते, बाइबल पढ़ना आरम्भ करें। आरम्भ करने के लिए कई अनुवाद और कई स्थान हैं। यद्यपि कोई भी अनुवाद सिद्ध नहीं है, हम आपको एक ऐसी बाइबल को चुनने का परामर्श देते हैं, जिसे आपको समझना आसान हो और जो बाइबल के मूल प्रतिलिपि के प्रति विश्‍वासयोग्य हो। आज के कुछ लोकप्रिय अनुवादों के नमूने को प्राप्त करने के लिए, आप BibleGateway.com या YouVersion.com जैसी वेबसाइटों पर जा सकते हैं। हम अनुशंसा करते हैं कि आप यीशु के सुसमाचार या अन्य सुसमाचारों में से किसी एक के साथ अपने अध्ययन का आरम्भ करें ताकि यीशु ने जो कुछ भी सिखाया और पृथ्वी पर अपने जीवन के दिनों में जो कुछ किया की जानकारी को आप प्राप्त कर सकें। GotQuestions.org पर दिए गए अन्य लेख आपको परमेश्‍वर और आत्मिक विषयों के बारे में आपके व्यावहारिक प्रश्नों के उत्तर देने में सहायता प्रदान करेंगे। बाइबल सिखाती है कि, "अपने आप को परमेश्‍वर का ग्रहणयोग्य और ऐसा काम करनेवाला ठहराने का प्रयत्न कर, जो लज्जित होने न पाए, और जो सत्य के वचन को ठीक रीति से काम में लाता हो" (2 तीमुथियुस 2:15)।

दूसरा, एक नए मसीही विश्‍वासी के नाते, प्रार्थना करना आरम्भ करें। प्रार्थना तो केवल परमेश्‍वर के साथ बात करना है। बहुत से लोगों का मानना है कि प्रार्थना में शब्दों की एक औपचारिक सूची सम्मिलित होनी चाहिए जो कि केवल कलीसियाई आराधना के समय ही सम्भव हो सकता है। यद्यपि, बाइबल हमें बिना रूके निरन्तर प्रार्थना करने की शिक्षा देती है (1 थिस्सलुनीकियों 5:17)। हमें दिन-रात परमेश्‍वर की स्तुति करने का निर्देश दिया गया है। यदि हम परमेश्‍वर को अधिक गहराई से जानना चाहते हैं, तो हमें नियमित रूप से उसके साथ वार्तालाप करनी चाहिए।

प्रत्येक दिन, आप परमेश्‍वर को धन्यवाद दे सकते हैं, उसे अपनी प्रतिदिन की आवश्यकताओं का उत्तर देने के लिए कहें, और दूसरों की ओर से प्रार्थना करें। दूसरों के साथ प्रार्थना करना भी महत्वपूर्ण है, जो मसीह का अनुसरण करते हैं, एक-दूसरे को प्रोत्साहित करते हैं, परमेश्‍वर की स्तुति करते हैं, और प्रत्येक व्यक्ति के अनुरोधों के लिए उत्तर की मांग करें। प्रार्थना करने के तरीकों के लिए, आप प्रभु की प्रार्थना से आरम्भ कर सकते हैं (मत्ती 6:9-13)।

तीसरा, एक नया मसीही विश्‍वासी होने के नाते, बपतिस्मा लें। बपतिस्मा मसीह में आपके नए जीवन का प्रतीक है और यह घोषणा करता है कि अब आप यीशु के प्रति प्रतिबद्ध हैं। यहाँ तक कि यीशु ने भी बपतिस्मा लिया था (लूका 3:1-22), और वह अपने अनुयायियों को भी बपतिस्मा लेने के लिए बुलाता है। प्रेरितों के काम 2:41 में यीशु के पहले अनुयायियों के द्वारा बपतिस्मा देने की गतिविधि को सम्पन्न किया गया था।

सामान्य रूप से, स्थानीय कलीसिया के अगुवों के द्वारा बपतिस्मा दिया जाता है। यदि आप अपनी रुचि व्यक्त करते हैं, तो एक स्थानीय कलीसिया का पासबान या कलीसियाई अगुवा को बपतिस्मा के बारे में आपसे बात करने में आनन्दित होना चाहिए।

चौथा, एक नए मसीही विश्‍वासी के नाते, अन्य मसीही विश्‍वासियों के साथ मित्रता बनाएँ। मसीही जीवन दूसरों के साथ आनन्द लेने के लिए बनाया गया है। यीशु ने अपने घनिष्ठ मित्रों के रूप में 12 शिष्यों में अपनी अधिकांश सेवकाई का निवेश किया। इसी तरह वह हमें एक दूसरे के साथ समुदाय में रहने के लिए बुलाता है। नए नियम में 50 से अधिक "एक दूसरे" वाक्यांश वाले वचन हैं, जो एक-दूसरे से प्रेम करने, एक दूसरे की सेवा करने, एक-दूसरे को उत्साहित करने, और एक दूसरे के लिए प्रार्थना करने को सन्दर्भित करते हैं। इन आदेशों में से प्रत्येक को पूरा करने के लिए अन्य मसीही विश्‍वासियों के साथ सम्बन्ध निर्मित करने की आवश्यकता होती है।

अन्य मसीही विश्‍वासियों के साथ संगति करना स्थानीय कलीसिया के प्रयोजनों में से एक है। यदि आपके क्षेत्र में बाइबल की-शिक्षा देने वाली एक कलीसिया है, तो इसमें सम्मिलित होना एक अच्छा स्थान है। यदि आप एक कलीसिया के बिना किसी ऐसे समुदाय में रहते हैं, तो आपको अपने क्षेत्र के अन्य मसीही विश्‍वासियों के साथ मिलने के अवसरों के लिए परमेश्‍वर से खोलने की मांग करने की आवश्यकता होगी।

पाँचवाँ, एक नए मसीही विश्‍वासी के नाते, दूसरों की सहायता करें। जब आप एक मसीही विश्‍वासी के रूप में अपने नए जीवन को आरम्भ करते हैं, तो आप स्वयं में एक नए प्रेम को पाएंगे जो आपको दूसरों की सहायता करने की इच्छा प्रदान करेगा। पवित्र आत्मा आपको सहायता देने के तरीकों में अगुवाई देगा। आप अपने समुदाय में गरीबों की सेवा कर सकते हैं, पड़ोसी के बगीचे में पड़ोसी की सहायता कर सकते हैं, या अस्पताल में एक बीमार मित्र से मुलाकात करने जा सकते हैं। पवित्र आत्मा आपको स्पष्ट रूप से परमेश्‍वर के प्रेम को दिखाने के लिए बुलाहट देगा (1 यूहन्ना 3:17-18)।

छठा, एक नए मसीही विश्‍वासी होने के नाते, किसी को अपने विश्‍वास के बारे में बताएँ। एक मसीही विश्‍वासी बनना एक रहस्य नहीं है; यह एक उत्सव है! उन सभी को बताएँ जो आपके जीवन में हुए मसीह के काम के बारे में सुनना चाहते हैं। कुछ विषयों में, आपके द्वारा साझा किए जाने वाले उदाहरण के माध्यम से अन्य लोग यीशु में विश्‍वास करेंगे। यीशु ने स्वर्ग में जाने से ठीक पहले, अपने शिष्यों को सभी जातियों के लोगों को शिष्य बनाने का आदेश दिया था (मत्ती 28:18-20)। आज, मसीही विश्‍वासियों को अभी भी दूसरों के साथ इस आशा को साझा करने के लिए बुलाया जाता है (1 पतरस 3:15-16)।

अन्त में, ये आपके नए विश्‍वास में बढ़ने के बारे में उपयोगी सूत्र हैं; वे मसीही विश्‍वासी बनने के लिए या मसीही विश्‍वासी बने रहने के लिए आवश्यकताओं की एक सूची नहीं हैं। आप अपने स्वयं के किसी भी काम के अतिरिक्त, विश्‍वास के माध्यम से अनुग्रह से बचाए गए हैं (इफिसियों 2:8-9)। परमेश्‍वर ने आप के जीवन में अपने काम को आरम्भ किया है, और वह इसे समाप्त करने की भी प्रतिज्ञा करता है (फिलिप्पियों 1:6)। परमेश्‍वर आपको आशीष दे, जब आप अपने विश्‍वास में परिपक्व होने के लिए आगे बढ़ते रहते हैं!

English


हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
मैं एक नया मसीही हूँ। अगला कदम क्या है?