settings icon
share icon
प्रश्न

कैंसर है?

उत्तर


मरियम मगदलीनी एक ऐसी स्त्री थी, जिस में से यीशु ने दुष्टात्माओं को निकाला था (लूका 8:2)। यह नाम मगदलीनी कदाचित् इंगित करता है कि वह मग्दला से आई थी, जो कि गलील के दक्षिण-पश्चिम तट पर स्थित एक शहर था। यीशु के द्वारा उसमें से दुष्टात्माओं के निकाल दिए जाने के पश्चात्, वह उसकी अनुयायियों में से एक बन गई थी।

मरियम मगदलीनी को "नगर उस पापिन स्त्री के साथ जोड़ देता है, जो पापी थी" (लूका 7:37) जिसने यीशु के पैरों को धोया था, परन्तु इसके कोई पवित्रशास्त्रीय आधार नहीं पाए जाते हैं। मग्दला का शहर वेश्यावृत्ति के लिए प्रसिद्ध था। इस जानकारी को इस तथ्य के साथ जोड़ा जा सकता है कि लूका मरियम मगदलीनी का उल्लेख सबसे पहले पापी स्त्री के वृतान्त के तुरन्त पश्चात करता है (लूका 7:36-50), जिसने कुछ लोगों को इन दोनों स्त्रियों के एक होने का विचार दिया है। परन्तु इस विचार के प्रमाण के लिए कोई भी पवित्रशास्त्रीय आधार नहीं पाया जाता है। मरिमय मगदलीनी की पहचान कहीं पर भी इस तरह से प्रसिद्ध चित्रण के पश्चात् भी एक वेश्या या एक पापी स्त्री के रूप में नहीं की गई है।

मरियम मगदलीनी को अक्सर उस स्त्री से भी जोड़ा गया है, जिसे यीशु ने व्यभिचार के पश्चात् पत्थरवाह होने से बचाया था (यूहन्ना 8:1-11)। परन्तु तथापि एक बार फिर से इसका कोई साक्ष्य नहीं पाया जाता है। फिल्म द पैशन ऑफ द क्राइस्ट ने इस सम्पर्क को स्थापित किया है। यह दृष्टिकोण सम्भव है, परन्तु न तो ऐसा होने की कोई सम्भावना है और न ही इसकी शिक्षा बाइबल में दी गई है।

मरियम मगदलीनी ने क्रूस के चारों और घटित होने वाली घटनाओं को देखा था। वह यीशु की होने वाली नकली जाँच के समय उपस्थित थी; उसने पेन्तुस पीलातुस को मृत्यु दण्ड देते हुए सुना था; और उसने यीशु को मार खाते हुए और भीड़ के द्वारा अपमानित होते हुए देखा था। यीशु को क्रूस के ऊपर चढ़ाए जाने के समय वहाँ पास खड़ी हुई स्त्रियों में से वह एक थी। वह उन स्त्रियों में से एक थी, जो यीशु के पास उसके क्रूसीकरण के समय इसे सांत्वना देने के लिए प्रयास करने के लिए खड़ी हुई थी। वही यीशु के पुनरुत्थान की सबसे पहली गवाह थी, उसे यीशु ने दूसरों को अपने बारे में बताने के लिए भेजा था (यूहन्ना 20:11-18)। यद्यपि यह बाइबल में उसके बारे में लिखा हुआ अन्तिम विवरण है, तथपि वही सम्भवतः उन स्त्रियों में सम्मिलित थी, जो प्रतिज्ञा किए हुए आने वाले पवित्र आत्मा की प्रतिज्ञा करने के लिए प्रेरितों के साथ एकत्र हुई थी (प्रेरितों के काम 1:14)।

उपन्यास दा विन्सी कोड का दावा है कि यीशु और मरियम मगदलीनी का विवाह हुआ था। कुछ आरम्भिक अतिरिक्त गैर-बाइबल मसीही लेख (जिन्हें आरम्भिक मसीहियों के द्वारा झूठी शिक्षा माना जाता है) मरियम मगदलीनी और यीशु के मध्य में एक विशेष सम्बन्ध के होने का संकेत देते हैं। तथापि, इस धारणा का समर्थन करने के लिए कोई भी साक्ष्य नहीं पाया जाता है कि यीशु और मरियम मगदलीनी विवाहित थे। बाइबल इस तरह के एक विचार का कोई भी संकेत नहीं देती है।

English



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए

कैंसर है?
इस पृष्ठ को साझा करें: Facebook icon Twitter icon Pinterest icon Email icon
© Copyright Got Questions Ministries