विवाहित जोड़े को कितनी बार सेक्स करना चाहिए?


प्रश्न: विवाहित जोड़े को कितनी बार सेक्स करना चाहिए?

उत्तर:
बाइबल हमें यह नहीं बताती कि एक विवाहित जोड़े को कितनी बार यौन सम्बन्ध बनाना चाहिए, तथापि यह हमें इतना अवश्य बताती है कि एक जोड़े में पारस्परिक सहमति होने पर ही इसे रोकना होता है। पहला कुरिन्थियों 7:5 हमें बताता है कि, "तुम एक दूसरे से अलग न रहो; परन्तु केवल कुछ समय तक आपस की सम्मति से कि प्रार्थना के लिये अवकाश मिले, और फिर एक साथ रहो; ऐसा न हो कि तुम्हारे असंयम के कारण शैतान तुम्हें परखे।" इसलिए, आपसी सहमति ही वह "नियम" है, जिस पर आधारित हो एक विवाहित जोड़े को निर्धारित करना होता है कि कितनी बार यौन सम्बन्ध होना चाहिए। "नियम" यह है कि यदि सेक्स से दूर रहना है, और यह केवल तब होता है, जब इसके लिए आपसी सहमति होती है, और तब भी यह केवल थोड़े समय के लिए होना चाहिए।

सेक्स को रोकना या इसकी मांग नहीं की जानी चाहिए। यदि एक पति या पत्नी यौन सम्बन्ध स्थापित नहीं करना चाहता, तो दूसरे साथी को दूर रहने के लिए सहमत होना चाहिए। यदि एक पति/पत्नी यौन सम्बन्ध बनाए रखना चाहता है, तो दूसरे साथी को सहमत होना चाहिए। यह समझौता की बात है। हमें स्मरण रखना चाहिए कि हमारे शरीर हमारे पति-पत्नी के हैं, क्योंकि 1 कुरिन्थियों 7:4 हमें बताता है, "पत्नी को अपनी देह पर अधिकार नहीं पर उसके पति का अधिकार है; वैसे ही पति को भी अपनी देह पर अधिकार नहीं, परन्तु पत्नी का है।" स्पष्ट है, विवाह में "यौन समझौता" तर्कसंगत होना चाहिए। यदि एक साथी प्रतिदिन दिन सेक्स चाहता है, और दूसरा साथी महीने में एक बार या उससे भी कम समय में एक बार, तो उन्हें एक समझौता, एक बीच के मार्ग को निकालते हुए प्रेम और बलिदान के साथ इसके लिए सहमत होना होगा। अध्ययनों से पता चलता है कि सभी आयु सीमाओं को ध्यान में रखते हुए, एक सामान्य विवाहित जोड़े में प्रति सप्ताह 2 बार सेक्स स्थापित होता है।

English


हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
विवाहित जोड़े को कितनी बार सेक्स करना चाहिए?