settings icon
share icon
प्रश्न

क्या स्वर्ग में लोग नीचे की ओर देख और हमें देख सकते हैं?

उत्तर


इब्रानियों 12:1 कहता है, "इस कारण जब गवाहों का ऐसा बड़ा बादल हम को घेरे हुए है...।" कुछ लोग "गवाहों के बादल" के लोगों को ऐसा समझते हैं जो कि स्वर्ग से नीचे की ओर देख रहे हैं। यह सही व्याख्या नहीं है। इब्रानियों अध्याय 11 कई ऐसे लोगों को वर्णन करता है जिनकी परमेश्वर ने उनके विश्वास के कारण सराहना की। यह वे लोग हैं जो कि "गवाहों के बादल" हैं। वे "गवाह" इस अर्थ में नहीं है कि वे हमें देख रहे हैं, अपितु इसकी अपेक्षा इस अर्थ में कि उन्होंने हमारे लिए एक नमूने को रख छोड़ा है। वे मसीह और परमेश्वर और सत्य के लिए गवाह हैं। इब्रानियों 12:1 निरन्तर कहता है, "...तो आओ, हर एक रोकनेवाली वस्तु और उलझानेवाले पाप को दूर करके, वह दौड़ जिसमें हमें दौड़ना है धीरज से दौड़ें।" मसीहियों की मेहनत और विश्वास के कारण जो हमारे से पहले आगे गए हैं, हमें उनके नमूने का अनुसरण करने के लिए प्रेरित होना चाहिए।

बाइबल विशेष रूप से यह नहीं कहती है कि लोग स्वर्ग से नीचे हमारे ऊपर जो अभी भी पृथ्वी के ऊपर हैं देखेंगे या नहीं। ऐसा कहने की संभावना बहुत अधिक नहीं है कि वे ऐसा कर सकते हैं। क्यों? प्रथम, वे कई बार ऐसी बातों, अर्थात् पाप और बुराई के कार्यों को देखेंगे जो उनमें दुख या दर्द के कारण बनेंगे। क्योंकि स्वर्ग में न तो दुख, न आँसू या अप्रसन्नता है (प्रकाशिवाक्य 21:4), इसलिए ऐसा नहीं जान पड़ता कि पृथ्वी पर घटित हो रही घटनाओं को देखना संभव होगा। दूसरा, स्वर्ग में लोग परमेश्वर की अराधना और स्वर्ग की महिमा के आनन्द से इतना ज्यादा व्यस्त होंगे कि ऐसा नहीं जान पड़ता है कि उनमें नीचे पृथ्वी पर क्या कुछ घटित हो रहा है, के लिए विशेष रूचि होगी। सच्चाई तो यह है कि वे पाप से स्वतंत्र होंगे और स्वर्ग में परमेश्वर की उपस्थिति को निश्चित रूप से इतना ज्यादा अनुभव कर रहे होंगे कि उनका ध्यान उन्हें इसी ओर कैद कर देगा। जबकि यह संभव है कि परमेश्वर लोगों को नीचे पृथ्वी पर उनके प्यारों को देखने की अनुमति देता है, बाइबल हमें विश्वास करने का कोई भी ऐसा कारण नहीं देती है कि ऐसा वास्तव में घटित होगा।

English



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए

क्या स्वर्ग में लोग नीचे की ओर देख और हमें देख सकते हैं?
इस पृष्ठ को साझा करें: Facebook icon Twitter icon Pinterest icon Email icon
© Copyright Got Questions Ministries