क्या अन्त के समय में यरूशेलम में मन्दिर होगा?


प्रश्न: क्या अन्त के समय में यरूशेलम में मन्दिर होगा?

उत्तर:
बाइबल में उल्लेख मिलता है कि अन्त के समय की कुछ घटनाएँ यरूशलेम के एक मन्दिर में घटित होंगी (दानिय्येल 9:27; मत्ती 24:15)। दूसरा थिस्सलुनीकियों 2:4, मसीह विरोधी के बारे में बोलते हुए, हमें बताता है, "जो विरोध करता है, और हर एक से जो ईश्‍वर या पूज्य कहलाता है, अपने आप को बड़ा ठहराता है, यहाँ तक कि वह परमेश्‍वर के मन्दिर में बैठकर अपने आप को ईश्‍वर ठहराता है।" अन्त-के समय की कुछ घटनाओं के घटित होने से पहले यरूशलेम में एक मन्दिर का विद्यमान होना चाहिए। यह तीसरा मन्दिर होगा — पहला सुलैमान का था; और दूसरा जरुब्बाबेल का था, जिसे बाद में हेरोदेस के द्वारा विस्तारित किया गया।

इस्लामिक डोम ऑफ द रॉक अर्थात् चट्टान का गुम्मद अभी भी यहाँ पर विद्यमान एक "छोटी" समस्या है, जिस स्थल को यहूदी मन्दिर माना जाता है। मुसलमानों का मानना है कि यही वह स्थान है, जहाँ से मोहम्मद स्वर्ग में चढ़ गया था, जिस के कारण यह मुस्लिम मन्दिरों का सबसे अधिक पवित्र बन गया है। आज के राजनीतिक वातावरण को देखते हुए, यह असम्भव है कि यहूदी इस स्थान को अपने अधीन कर लेंगे और वहाँ एक मन्दिर का निर्माण करेंगे। परन्तु, क्लेशकाल से पहले या उसके मध्य में, मन्दिर का निर्माण किया जाएगा, सम्भवतः इस्राएल के साथ मसीह विरोधी के द्वारा संधि किए जाने के परिणामस्वरूप ऐसा होगा (दानिय्येल 9:24-27)।

यहूदी मन्दिर का निर्माण एक निश्‍चित संकेत होगा कि अन्त-समय की भविष्यद्वाणियाँ पूरी की जा रही हैं। यह क्लेशकालीन-युग का मन्दिर होगा जिसे मसीह विरोधी मरकुस 13:14 में मसीह द्वारा वर्णित "उजाड़ने वाली घृणित वस्तु" के साथ अपमानित करेगा। मेघारोहण किसी भी क्षण घटित हो सकता है — इसके लिए मन्दिर के पुनर्निर्माण का होना आवश्यक नहीं है — इसलिए तैयार रहना महत्वपूर्ण है।

English


हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
क्या अन्त के समय में यरूशेलम में मन्दिर होगा?