क्या विभिन्न सम्प्रदायों के मसीही विश्‍वासियों को आपस में डेटिंग या प्रेम मुलाकातें या विवाह करना चाहिए?


प्रश्न: क्या विभिन्न सम्प्रदायों के मसीही विश्‍वासियों को आपस में डेटिंग या प्रेम मुलाकातें या विवाह करना चाहिए?

उत्तर:
क्या बैपटिस्ट सम्प्रदाय से सम्बन्धित एक मसीही विश्‍वासी पेन्टीकोस्टल सम्प्रदाय से सम्बन्धित एक मसीही विश्‍वासी के साथ डेटिंग अर्थात् प्रेम मुलाकातें कर सकता है? क्या लूथरन सम्प्रदाय से सम्बन्धित एक मसीही विश्‍वासी की प्रेस्बिटेरियन सम्प्रदाय से सम्बन्धित एक मसीही विश्‍वासी के साथ डेटिंग अर्थात् प्रेम मुलाकातें कर सकता है? सबसे महत्वपूर्ण विषय यह है कि क्या दोनों विश्‍वासी यीशु मसीह को उद्धारकर्ता के रूप में जानते हैं। बाइबल "असमान जुए में जुते" हुए होने के बारे में बोलती है (2 कुरिन्थियों 6:14), परन्तु यह केवल विश्‍वासियों और अविश्‍वासियों को ही सन्दर्भित करता है। यह दो विश्‍वासियों का उल्लेख नहीं करता है, जिनके पास कुछ ऐसी मान्यताओं हैं, जो एक दूसरे से भिन्न हैं। यदि दोनों व्यक्ति यीशु मसीह को उद्धारकर्ता के रूप में जानते हैं, तो बाइबल के अनुसार कोई ऐसा कारण नहीं पाया है कि वे एक दूसरे के साथ डेटिंग और/या विवाह नहीं कर सकते हैं।

तथापि, ऐसा कहने से यह अर्थ नहीं है कि सम्भावित समस्याएँ और कठिनाईयाँ नहीं उठेंगी। जब/यदि सम्बन्ध गम्भीर हो जाता है और सम्भावित रूप से विवाह की ओर बढ़ रहा होता है, तो जोड़े को बैठना चाहिए और किसी एक कलीसिया में भाग लेने के लिए एक सहमति तक पहुँचना चाहिए। यदि धर्मसैद्धान्तिक मान्यताओं में बहुत अधिक असहमतियाँ हैं, तो जोड़े को असहमत होते हुए भी सहमत होना चाहिए, और साथ ही साथ बच्चों के पालन पोषण और मसीही विश्‍वास को यापन किए जाने के तरीके के ऊपर सहमति बनानी चाहिए। एक जोड़े के लिए धर्मसिद्धान्तिक रूप से सहमत होना सबसे अच्छी बात है, परन्तु सबसे महत्वपूर्ण विषय मसीह में विश्‍वास, एक दूसरे के लिए प्रेम करना, और परमेश्‍वर-के-प्रति-सम्मानीय सम्बन्ध को बनाए रखने की इच्छा है।

ऐसा कहने का अर्थ यह हुआ कि यह बात केवल मसीही विश्‍वास के विभिन्न सम्प्रदायों के ऊपर ही लागू होता है। मसीह में पाए जाने वाले सच्चे विश्‍वासियों को मसीही होने का दावा करने वाले विभिन्न झूठी शिक्षा देने वाले मसीही मतों और/या झूठे धर्मों के सदस्यों से विवाह नहीं करना चाहिए। मसीही धर्म के मूल सिद्धान्तों को जानना और उससे सहमत होना एक ऐसे जोड़े के लिए महत्वपूर्ण है, जो एक सफल, परमेश्‍वर-को सम्मान करने वाले वैवाहिक सम्बन्ध या वैवाहिक जीवन को बनाने की अपेक्षा करता है।

English



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
क्या विभिन्न सम्प्रदायों के मसीही विश्‍वासियों को आपस में डेटिंग या प्रेम मुलाकातें या विवाह करना चाहिए?