दाह संस्कार के बारे में बाइबल क्या कहती है? क्या मसीही विश्‍वासियों को शव जलाना चाहिए?



प्रश्न: दाह संस्कार के बारे में बाइबल क्या कहती है? क्या मसीही विश्‍वासियों को शव जलाना चाहिए?

उत्तर:
बाइबल शव जलाने के बारे में किसी भी तरह की कोई विशेष शिक्षा नहीं देती है। पुराने नियम में ऐसी बहुत सी घटनाएँ घटित हुई हैं जहाँ पर लोग आग से जल कर मरे हैं (1 राजा 16:18; 2 राजा 21:6) और मनुष्यों की हड्डियों को जलाया गया है (2 राजा 23:16-20), परन्तु ये शव को जलाने के उदाहरण नहीं हैं। 2 राजा 23:16-20 में दिए हुए संदर्भ के ऊपर ध्यान देना दिलचस्प होगा, जहाँ पर मनुष्य की हड्डियों को वेदी के ऊपर जला कर अशुद्ध किया जाना। ठीक उसी समय, पुराने नियम की व्यवस्था कहीं पर भी यह आज्ञा नहीं देती है कि एक मरे हुए व्यक्ति के शरीर को जलाया नहीं जाना चाहिए, न ही यह किसी व्यक्ति के जलाए जाने पर न तो उसे शाप देती और न उस पर दण्ड की आज्ञा को देती है।

बाइबल के समय में शव का दाह संस्कार प्रचलित था, परन्तु यह इस्राएलियों में या नए नियम के विश्‍वासियों में सामान्य रूप से पाया जाने वाला एक प्रचलित अभ्यास नहीं था। बाइबल के समय की संस्कृतियों में, कब्र, गुफा या भूमि में मुर्दे को गाड़ा जाना एक मनुष्य के शरीर को समाप्त करने के लिए सामान्य तरीका पाया जाता है (उत्पत्ति 23:19; 35:9; 2 इतिहास 16:14; मत्ती 27:60-66)। जबकि गाड़ा जाना एक सामान्य अभ्यास था, बाइबल कहीं पर ऐसी आज्ञा नहीं देती है कि गाड़ा जाना ही शरीर को नष्ट करने के लिए एक अनुमति प्रदान तरीका था।

क्या शव को जलाया जाना ऐसा विचार है जिसके ऊपर मसीही विश्‍वासियों का ध्यान देना चाहिए? एक बार फिर से, शव को जलाने के लिए पवित्रशास्त्र का कोई भी स्पष्ट आदेश नहीं मिलता है। कुछ विश्‍वासी शव को जलाने के अभ्यास को इस आधार पर स्वीकार नहीं करते हैं कि एक दिन परमेश्‍वर हमारे शरीरों को पुनरुत्थित कर देगा और उनका हमारे प्राण/आत्मा के साथ पुनःमिलन हो जाएगा (1 कुरिन्थियों 15:35-58; 1 थिस्सलुनीकियों 4:16)। तथापि, सच्चाई तो यह है कि एक शरीर जो जला दिया गया किसी भी तरह से परमेश्‍वर के द्वारा उस शरीर को पुनरुत्थित करने के लिए कोई कठिनाई उत्पन्न नहीं करता है। उन मसीही विश्‍वासी के शरीर जो हजारों वर्ष से पहले मर गए थे, अभी तक, पूर्ण रीति से मिट्टी में मिल गए होंगे। यह किसी भी रीति से परमेश्‍वर को उनके शरीरों को पुनरुत्थित करने में कोई बाधा उत्पन्न नहीं करेगा। उसने ही उन्हें सृजा था; उसे उनके पुनर्सृजित करने में किसी तरह की कोई कठिनाई नहीं होगी। शव जलाना एक शरीर को मिट्टी में परिवर्तित करने की प्रक्रिया में "तेजी" को छोड़कर कुछ नहीं करता है। परमेश्‍वर एक व्यक्ति को पुन: खड़ा करने के लिए उतना ही योग्य है जितना कि वह उस व्यक्ति को जो जलाया नहीं गया था। गाड़ना या जलाना मसीही विश्‍वासियों के द्वारा स्वतंत्रता के साथ चुनाव करने वाला एक प्रश्न है। इस विषय के ऊपर विचार करने वाले एक व्यक्ति या एक परिवार की बुद्धि के लिए प्रार्थना करनी चाहिए (याकूब 1:5) और उससे निकलने वाले परिणामों का अनुसरण करना चाहिए।



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



दाह संस्कार के बारे में बाइबल क्या कहती है? क्या मसीही विश्‍वासियों को शव जलाना चाहिए?