settings icon
share icon
प्रश्न

करूब क्या हैं? क्या करूब स्वर्गदूत हैं?

उत्तर


करूब/करूबों ऐसे स्वर्गीय प्राणी हैं जो परमेश्‍वर की आराधना और स्तुति करने के कार्य को करते हैं। बाइबल में करूबों का सबसे पहला उल्लेख उत्पत्ति 3:24 में मिलता है, “इसलिए आदम को उसने निकाल दिया और जीवन के वृक्ष का पहरा देने के लिए अदन की वाटिका के पूर्व की ओर करूबों को, और चारों ओर घूमनेवाली ज्वालामय तलवार को भी नियुक्त कर दिया।" अपने विद्रोह से पहले, शैतान भी एक करूब ही था (यहेजकेल 28:12-15)। मिलाप का तम्बू और मन्दिर में करूबों के प्रस्तुतीकरण की बहुत सी वस्तुएँ थीं (निर्गमन 25:17-22; 26:1, 31; 36:8; 1 राजा 6:23-35; 7:29-36; 8:6-7; 1 इतिहास 28:18; 2 इतिहास 3:7-14; 2 इतिहास 3:10-13; 5:7-8; इब्रानियों 9:5)।

यहेजकेल की पुस्तक के अध्याय 1 और 10 में "चार जीवित जीवधारियों" (यहेजकेल 1:5) का वर्णन करूबों के जैसे प्राणियों के रूप में ही मिलता है (यहेजकेल 10)। इनमें से प्रत्येक के चार मुँह हैं - अर्थात् एक पुरूष का, एक सिंह का, एक बैल का और एक उकाब पक्षी (यहेजकेल 1:10; also 10:14) — और प्रत्येक के चार पंख थे। अपने रूप में, करूब "मनुष्य के जैसे ही" (यहेजकेल 1:5)। ये करूब अपने दो पंखों को उड़ने के लिए और अन्य दो का उपयोग अपने शरीरों को ढकने के लिए करते थे (यहेजकेल 1:6, 11, 23)। उनके पंखों के नीचे करूबों का रूप था या यह मनुष्य के से हाथ जैसा था (यहेजकेल 1:8; 10:7-8, 21)।

प्रकाशितवाक्य 4:6-9 में दिया हुआ चित्र भी करूबों का वर्णन देता हुआ आभासित होता है। करूब परमेश्‍वर की सामर्थ्य और पवित्रता की महिमा के उद्देश्य को पूरा करते हैं। पूरे बाइबल में पाया जाना यह उनका एक मुख्य दायित्व है। परमेश्‍वर की प्रंशसा के भजन गाने के अतिरिक्त, वे साथ ही परमेश्‍वर की महिमा और भव्यता और उसके लोगों के साथ उसकी स्थाई उपस्थिति के दृश्यमान स्मरणार्थ के कार्य को भी करते हैं।

English



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए

करूब क्या हैं? क्या करूब स्वर्गदूत हैं?
इस पृष्ठ को साझा करें: Facebook icon Twitter icon Pinterest icon Email icon
© Copyright Got Questions Ministries