एक मसीही विश्वासी को धौंस दिखाए जाने के प्रति कैसे उत्तर देना चाहिए?


प्रश्न: एक मसीही विश्वासी को धौंस दिखाए जाने के प्रति कैसे उत्तर देना चाहिए?

उत्तर:
बाइबल विशेष रूप से बदमाशी करने या धौंस दिखाने या जमाये जाने के बारे में कुछ नहीं बोलती है, परन्तु बाइबल में ऐसे कई सिद्धान्त पाए जाते हैं, जो इस विषय के ऊपर लागू होते हैं। सबसे पहले, यह समझना महत्वपूर्ण है कि धौंस दिखाना क्या होता है। इसकी एक सरल परिभाषा "लोगों को भयभीत करने के लिए अधिक सामर्थ्य या शक्ति का उपयोग करना।" बदमाश वे लोग होते हैं, जो उन लोगों को शिकार करते हैं, जिन्हें वे कमजोर समझते हैं और उन्हें नुकसान पहुँचाने की धमकी देते हैं, या वास्तव में उन्हें नुकसान पहुँचाते हैं, ताकि अपने काम को निकाल सकें। स्पष्ट है, धौंस दिखाना भक्तिमयी कार्य नहीं है। मसीहियों को दूसरों से प्रेम करने और कमजोर लोगों की देखभाल करने की बुलाहट दी गई है, न कि लोगों को डराने-धमकाने या उनके साथ हेराफेरी करके अपने कार्य को निकालना (याकूब 1:27; 1 यूहन्ना 3:17-18; गलातियों 6:9–10)। यह स्पष्ट है कि मसीहियों को गुण्डे या बदमाश नहीं होने चाहिए, मसीहियों को धौंस दिखाए जाने के प्रति कैसे प्रतिक्रिया देनी चाहिए?

सामान्य रूप से, दो अवस्थाओं में एक मसीही विश्वासी को धौंस दिखाए जाने के प्रति उत्तर देने की आवश्यकता हो सकती है: जब वह धौंस दिखाए जाने का शिकार होता है और जब वह धौंस दिखाए जाने का गवाह होता है। जब धमकाया जाता है, तो एक सही प्रतिक्रिया दूसरे की ओर अपना दूसरा गाल भी फेर देना हो सकता है, या यह आत्मरक्षा का कार्य भी हो सकता है। जब यीशु ने मत्ती 5:38–42 में "दूसरे की ओर अपने गाल को फेर देने" की बात कही थी, तो उसने हमें व्यक्तिगत झगड़ों के प्रति बदला न लेने से बचे रहने की शिक्षा दी थी। विचार अपमान के बदले में अपमान का नहीं है। जब कोई व्यक्ति मौखिक रूप से हमें गाली देता है, तो हम अपने अपमान के बदले में उसका अपमान नहीं करते। जब कोई हमें भयभीत करने या एक निश्चित व्यवहार को किए जाने लिए मजबूर करने के लिए अपनी पदवी आधारित शक्ति का उपयोग करने का प्रयास करता है, तो हम बदले में हेरफेर किए बिना उसकी हेरफेर का विरोध कर सकते हैं। संक्षेप में, एक बदमाश को बदले में धौंस दिखाना बाइबल आधारित नहीं है और, अत्यधिक स्पष्ट रूप से, उपयोगी भी नहीं है। यद्यपि, सही अधिकारियों को धौंस दिखाने वाले व्यक्ति की रिपोर्ट करना उचित है। विद्यालय में एक बच्चे के द्वारा अपने शिक्षक को धौंस दिखाने वालों के बारे में सचेत करना गलत नहीं है। किसी व्यक्ति के द्वारा पुलिस को एक धोखा देने वाले व्यक्ति के प्रति रिपोर्ट देना गलत नहीं है। इस तरह की गतिविधि धौंस दिखाने वाले व्यक्ति के द्वारा दूसरों को नुकसान पहुँचाने से रोकने में सहायता कर सकती है। यहाँ तक कि जब हम व्यक्तिगत स्तर पर बदला लेने के लिए कोई कार्य नहीं करते हैं, तब भी हम न्याय के लिए ठहराई हुई सामाजिक व्यवस्था का उपयोग कर सकते हैं।

अन्य विषयों में, विशेषकर यदि धौंस दिखाना शारीरिक है, तो आत्मरक्षा करना उचित हो सकती है। बाइबल पूर्ण रूप से शान्तिवाद की वकालत नहीं करती है। निर्गमन 22 में इस्राएल के लिए परमेश्वर के निर्देश और लूका 22 में एक तलवार प्राप्त करने के लिए अपने शिष्यों को दिए गए यीशु के निर्देश सूचनात्मक हैं। मसीहियों को प्रेम और क्षमा करने के लिए बुलाया गया है, परन्तु बुराई करने की अनुमति नहीं है।

जब एक मसीही विश्वासी किसी के द्वारा धौंस दिखाने के कार्य को देखता है, तो पीड़ित के विरूद्ध होने वाला आक्रमण और उसे रोकने में सहायता करना उचित हो सकता है। प्रत्येक स्थिति भिन्न होगी, और कई बार सहायता करने से समस्या बढ़ जाएगी, परन्तु अक्सर धौंस दिखाने वाले को रोकना और भविष्य में उसे ऐसा करने से रोकने के लिए एक कमजोर पक्ष की ओर से खड़े होने के लिए केवल एक व्यक्ति के साहस की ही आवश्यकता होती है। निश्चित रूप से, एक मसीही विश्वासी धौंस दिखाए जाने के पश्चात पीड़ित व्यक्ति के साथ बात कर सकता है और पीड़ित को सहायता किसी भी आवश्यकता में कर सकता है, जिसमें घटित हुई घटना की रिपोर्ट करने में सहायता देना भी सम्मिलित है।

धौंस दिखाने वाले का सामना करने की सभी घटनाओं में परमेश्वर का ज्ञान आवश्यक है। जो मसीह का अनुसरण करते हैं, उनके भीतर पवित्र आत्मा वास करता है। वह हमें परमेश्‍वर के वचन को समझने में सहायता करता है और हमें मार्गदर्शन दे सकता है और हमें स्वयं को जिस भी स्थिति में पाते हैं, उसमें परमेश्वर की आज्ञा का पालन करने के लिए प्रेरित करता है।

हमें धौंस दिखाने वाले व्यक्ति के प्रति अपने विचारों और व्यवहारों के ऊपर भी ध्यान देने की आवश्यकता है। धौंस दिखाने वाले का अपमान करना और उन्हें घृणित लोगों के रूप में सोचना आसान है। यद्यपि, यह एक भक्ति से भरा हुआ व्यवहार नहीं है। प्रत्येक मनुष्य पापी के रूप में जन्म लेता है, और हम सभों को यीशु में पाए जाने वाले उद्धार की आवश्यकता है (रोमियों 3:23; 6:23)। सबसे अन्त में, हमें प्रार्थना करनी चाहिए कि धौंस दिखाने वालों का मन परिवर्तन होगा और वे परमेश्वर के उद्धार को जानेंगे (1 तीमुथियुस 2:1-4)। यद्यपि, कई बार, धौंस दिखाने वाले व्यक्ति ऐसे व्यवहार करते हैं कि जिससे उनको स्वयं को ही ठेस पहुँच जाती है। हो सकता है कि उनके ऊपर अतीत में किसी ने धौंस दिखाई होगी। कदाचित् वे असुरक्षित महसूस करते हैं, और जिस तरह से वे स्वयं को, दूसरों की तुलना में कम महत्व का समझते हुए स्वीकार करते हैं। हम उनके मन पर पहुँची हुई ठेसों के प्रति सहानुभूति रख सकते हैं और उनके गलत व्यवहार को दूर करने के लिए ठोस सीमाओं को बनाए रखते हुए परमेश्वर की करुणा, प्रेम और अनुग्रह को उन तक बढ़ा सकते हैं। चाहे धौंस दिखाना अतीत की ठेस या मात्र पापी स्वभाव के कारण प्रेरित हो, यह परमेश्वर ही है, जो चँगाई, बहाली और परिवर्तन ला सकता है। धौंस दिखाने वाले व्यक्ति और उनके द्वारा पीड़ित दोनों के लिए प्रार्थना करना सदैव ही उचित होता है। इसी तरह से, जब हम धौंस दिखाए जाने के द्वारा पीड़ित हो जाते हैं, तो हम अपने दु:ख के साथ परमेश्वर के पास जा सकते हैं और उसके आश्वासन और चँगाई की खोज कर सकते हैं।

रोमियों 12:17–21 का कहना है, "बुराई के बदले किसी से बुराई न करो; जो बातें सब लोगों के निकट भली हैं, उनकी चिन्ता किया करो। जहाँ तक हो सके, तुम भरसक सब मनुष्यों के साथ मेल मिलाप रखो। हे प्रियो, बदला न लेना, परन्तु परमेश्‍वर के क्रोध को अवसर दो, क्योंकि लिखा है, “बदला लेना मेरा काम है, प्रभु कहता है मैं ही बदला दूँगा।” परन्तु “यदि तेरा बैरी भूखा हो तो उसे खाना खिला, यदि प्यासा हो तो उसे पानी पिला; क्योंकि ऐसा करने से तू उसके सिर पर आग के अंगारों का ढेर लगाएगा। बुराई से न हारो, परन्तु भलाई से बुराई को जीत लो।”

परमेश्वर ने हमें अविश्वसनीय दया को दिखाया है। हमें इस दया को दूसरों के साथ अपने व्यवहार में दिखानी चाहिए, - धमकाने से नहीं, कमजोर की रक्षा करने के लिए खड़े होने से, क्षमा करने के लिए तैयार होने से, धौंस दिखाने वाले को रोकने के लिए सबसे अच्छा तरीका उचित सामाजिक माध्यमों की सहायता लेना, और धौंस दिखाने वालों और जो उनके द्वारा पीड़ित हुए हैं, उनके के लिए प्रार्थना करना है। परमेश्वर का प्रेम और अनुग्रह प्रत्येक तरह के जख्म को भरने के लिए पर्याप्त है।

English
हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
एक मसीही विश्वासी को धौंस दिखाए जाने के प्रति कैसे उत्तर देना चाहिए?