क्या बाइबल में काले लोगों का उल्लेख पाया जाता है?


प्रश्न: क्या बाइबल में काले लोगों का उल्लेख पाया जाता है?

उत्तर:
हम एक निश्चित सीमा तक ही ऐसा कह सकते हैं कि, हाँ, बाइबल में काले लोगों का उल्लेख मिलता है, यद्यपि, बाइबल स्पष्ट रूप से किसी भी व्यक्ति की पहचान काली-चमड़ी वाले के रूप में नहीं करती है। न ही बाइबल विशेष रूप से किसी भी व्यक्ति को सफेद चमड़ी वाले के रूप में पहचानती है। बाइबल में किसी व्यक्ति की त्वचा का रंग कदाचित् ही कभी उल्लेख किया गया है; किसी की भी त्वचा का रंग बाइबल के मूल सन्देश के लिए अर्थहीन है।

बाइबल की अधिकांश कथा मध्य-पूर्व में, इस्राएल के आसपास घटित हुई है। इन क्षेत्रों में "काला" और "सफेद" लोग सामान्य रूप से नही पाए जाते हैं। बाइबल में अधिकांश लोग सामी समुदाय के थे और रंगों में गहरे भूरे रंग के होते हैं। अन्त में, यह बात कोई अर्थ नहीं रखती है कि बाइबल के किस रंग के लोग थे।

कुछ विद्वान अनुमान लगाते हैं कि मूसा की पत्नी सिप्पोरा काली थी, क्योंकि वह कूशी थी (गिनती 12:1)। कूश अफ्रीका के क्षेत्र के लिए एक प्राचीन नाम है। शूलेमिन भी कदाचित् काली हो सकती है (श्रेष्ठगीत 1:5), यद्यपि, सन्दर्भ इंगित करता है कि सूरज के प्रकाश में काम करने के कारण उसकी त्वचा काली थी। कुछ प्रस्ताव देते हैं कि बेतशेबा (2 शमूएल 11:3) काली थी। कुछ लोगों की मान्यता है कि शेबा की रानी जो सुलैमान से मुलाकात करने आती है (1 राजा 10:1) काली थी। कुरेनी का शिमौन (मत्ती 27:32) कदाचित् काला हो सकता है, और प्रेरितों के काम 13:1 में "शिमौन जो नीगर कहलाता है।" प्रेरितों के कामों 8:37 में इथियोपिया का खोजा लगभग निश्चित रूप से काला ही था। इथियोपिया के लोगों का बाइबल में लगभग 40 बार उल्लेख किया गया है, और हम यह स्वीकार कर सकते हैं कि ये काले लोगों के सन्दर्भ हैं, क्योंकि इथियोपिया के लोग काले होते हैं। भविष्यद्वक्ता यिर्मयाह से ऐसा पूछा था कि, "क्या हबशी अपना चमड़ा या चीता अपने धब्बे बदल सकता है?" (यिर्मयाह 13:23) — स्वाभाविक धारणा यह है कि यिर्मयाह काली त्वचा का ही उल्लेख है।

बाइबल के शिक्षक यही विश्‍वास करते हैं कि काले लोग नूह के पुत्र हाम के वंशज हैं (उत्पत्ति 10:6-20), परन्तु हमें यह निश्चित नहीं हो सकता, क्योंकि बाइबिल विशेष रूप से नहीं कहती है। जब बात त्वचा के रंग की आती है, तब बाइबल निरन्तर चुप रहती है। त्वचा का रंग परमेश्‍वर के लिए उतना अधिक महत्वपूर्ण नहीं है, जितना कि मन की अवस्था। सुसमाचार सार्वभौमिक रूप से शुभ सन्देश है। काले लोगों, सफेद लोगों और प्रत्येक तरह के रंग के लोगों को उद्धार के लिए मसीह के पास आने के लिए आमन्त्रित किया जाता है। परमेश्‍वर का अनुग्रह हमें हमारी दृष्टि को त्वचा के रंग से दूर कर सकता है और हमारे ध्यान को आत्मा के ऊपर केन्द्रित कर सकता है।

English
हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
क्या बाइबल में काले लोगों का उल्लेख पाया जाता है?