बाइबल प्रेत-सिद्धि के बारे में क्या कहती है?


प्रश्न: बाइबल प्रेत-सिद्धि के बारे में क्या कहती है?

उत्तर:
प्रेत-सिद्धि या साधना को भविष्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए जादू-टोने के उपयोग या जीवन चक्र की घटनाओं को प्रभावित करने के उद्देश्यों के लिए मृतकों की आत्माओं के साथ वार्तालाप करने के रूप में परिभाषित किया गया है। बाइबल में, प्रेत -सिद्धि को "भावी कहना," "तान्त्रिक" या इन्द्रजाल और "प्रेत साधना" भी कहा जाता है और कई बार परमेश्‍वर के विरूद्ध किए जाने वाले एक घृणित कार्य के रूप में निषिद्ध किया गया है (लैव्यव्यवस्था 19:26; व्यवस्थाविवरण 18:10; गलातियों 5:19-20; प्रेरितों के काम 19:19)। यह कुछ ऐसी बात जिसके विरूद्ध परमेश्‍वर ने बड़ी दृढ़ता के साथ बोला है और इसे एक बुराई का रूप होने के कारण बचा जाना चाहिए। ऐसा करने के दो कारण हैं।

सबसे पहले, निस्सन्देह प्रेत-सिद्धि में दुष्टात्माएँ सम्मिलित होती हैं और इसमें अभ्यासकर्ता स्वयं को ही दुष्टात्मा के आक्रमण के लिए खोल देता है। शैतान और उसकी दुष्टात्माएँ हमें सत्य या बुद्धि देने के लिए नहीं, अपुति हमें नष्ट करने का प्रयास करती हैं। हमें बताया गया है कि हमारा "विरोधी शैतान गर्जनेवाले सिंह के समान इस खोज में रहता है कि किस को फाड़ खाए" (1 पतरस 5:8)। दूसरा, प्रेत-सिद्धि निस्सन्देह परमेश्‍वर के ऊपर जानकारी के लिए भरोसा नहीं करती है, परमेश्‍वर जो कि उन सभों को बुद्धि देने की प्रतिज्ञा करता है, जो उससे इसके लिए प्रार्थना करते हैं (याकूब 1:5)। ऐसा विशेष रूप से इसलिए कहना, क्योंकि परमेश्‍वर सदैव हमें सत्य और जीवन की ओर ले जाना चाहता है, परन्तु दुष्टात्माएँ सदैव हमें झूठ और गम्भीर क्षति की ओर ले जाना चाहती हैं।

यह विचार है कि मृत लोगों की आत्माओं को जानकारी प्राप्त करने के लिए सम्पर्क किया जा सकता है, झूठी है। जो लोग इस तरह के सम्पर्क का प्रयास करते हैं, वे अनिवार्य रूप से मृत लोगों की आत्माओं के स्थान पर शैतानिक आत्माओं से सम्पर्क स्थापित करते हैं। जो लोग मर जाते हैं, वे तुरन्त या तो स्वर्ग चले जाते हैं या फिर नरक — स्वर्ग यदि उन्होंने यीशु को अपने उद्धारकर्ता के रूप में ग्रहण किया है और नरक यदि उन्होंने उसे ग्रहण नहीं किया है। मृतकों और जीवितों के मध्य में किसी तरह का कोई सम्पर्क नहीं है। इसलिए, मृतकों से जानकारी प्राप्त करना अनावश्यक और अत्यधिक खतरनाक है।

English
हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
बाइबल प्रेत-सिद्धि के बारे में क्या कहती है?