वाचा का सन्दूक क्या है?


प्रश्न: वाचा का सन्दूक क्या है?

उत्तर:
परमेश्‍वर ने अपने सेवक मूसा के द्वारा इस्राएल की सन्तान के साथ एक वाचा (एक सशर्त वाचा) को बाँधा था। उसने उन्हें और उनकी सन्तान के लिए भलाई की प्रतिज्ञा की थी यदि वे उसकी और उसकी व्यवस्था का पालन करते हैं; परन्तु यदि वे आज्ञा की अवहेलना करते थे, तो उसने साथ ही उसके द्वारा उन्हें निराश किए जाने, दण्ड देने और बन्धुवाई में भेज दिए जाने के बारे में भी चेतावनी दी थी। अपनी वाचा के संकेत में उसने इस्राएलियों को अपने स्वयं की रूपरेखा के अनुसार एक सन्दूक दिया था, जिसमें दस आज्ञाओं वाली पत्थर की पट्टिया पड़ी हुई थीं। यह सन्दूक, या डिब्बे को "सन्दूक" कहा जाता था और यह सोने के साथ बबूल की लकड़ी के द्वारा बना हुआ था। सन्दूक को मिलाप के तम्बू के महा पवित्र स्थान में रखा गया था और अन्ततः मन्दिर में जब यह यरूशलेम में बनाया गया था। यह डिब्बा वाचा के सन्दूक के रूप में जाना जाता है।

वाचा के सन्दूक का वास्तविक महत्व यह था कि इसमें वाचा के ढक्कन को सम्मिलित किया गया था, जिसे "दया का सिंहासन" कहा जाता है। शब्द 'दया का सिंहासन' एक इब्रानी शब्द से आता है, जिसका अर्थ है "ढकने, शान्त, सन्तुष्ट, शुद्ध, निरस्त या प्रायश्चित करने" से है। यह यही वह स्थान था, जहाँ पर महायाजक वर्ष में केवल एक बार (लैव्यव्यवस्था 16) में जाया करता है, जहाँ इस पवित्र सन्दूक को रखा गया था और अपने पापों और इस्राएलियों के पापों के लिए प्रायश्चित किया करता था। याजक अतीत के पापों के लिए परमेश्‍वर के क्रोध और जलजलाहट को शान्त करने के लिए दया के सिंहासन के ऊपर बलिदान किए हुए जानवर का लहू छिड़का करता था। यही संसार में एकमात्र स्थान था, जहाँ पर प्रायश्चित हो सकता था।

सन्दूक के ऊपर दया का सिंहासन उस बात के लिए प्रतीक था, जिसमें पापों की क्षमा के लिए क्रूस पर मसीह के लहू के द्वारा सभों के पापों के लिए — उत्तम बलिदान चढ़ाया गया था। प्रेरित पौलुस, एक पूर्व फरीसी और पुराने नियम का ज्ञाता इस अवधारणा को अच्छी तरह से जानता था, जब उसने ऐसे लिखा था कि मसीह हमारे पापों को ढकने के लिए दिया गया था, रोमियों 3:24-25: "… परन्तु उसके अनुग्रह से उस छुटकारे के द्वारा जो मसीह यीशु में है, सेंत मेंत धर्मी ठहराए जाते हैं। उसे परमेश्‍वर ने उसके लहू के कारण एक ऐसा प्रायश्चित ठहराया, जो विश्‍वास करने से कार्यकारी होता है कि जो पाप पहले किए गए।" जैसा कि पुराने नियम में पापों के प्रायश्चित के लिए केवल एक ही स्थान — वाचा के सन्दूक का दया का सिंहासन — था, वैसे ही नए नियम और वर्तमान समय में प्रायश्चित के लिए केवल एक ही स्थान है — यीशु मसीह का क्रूस। मसीही विश्‍वासी होने के नाते, हमें अब और अधिक वाचा के सन्दूक की ओर देखने की कोई आवश्यकता नहीं है, अपितु प्रभु यीशु की ओर जो हमारे पापों का छुटकारा और प्रायश्चित है।

English
हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
वाचा का सन्दूक क्या है?