विलाप वाली दीवार क्या है?


प्रश्न: विलाप वाली दीवार क्या है?

उत्तर:
विलाप वाली दीवार, जिसे पश्‍चिमी दीवार के रूप में भी जाना जाता है, हेरोदेस महान् के द्वारा बनाई गई प्राचीन दीवार का एक 187 फुट ऊँचा खण्ड है, जिसे पहाड़ी पर स्थित मन्दिर के परिसर में एक बची हुई दीवार के रूप में निर्मित किया गया है। यह दीवार यरूशलेम के पुराने नगर में पहाड़ी पर स्थित के पश्‍चिमी की ओर विलाप वाली दीवार के रूप में स्थित है। हेरोदेस महान् ने 20 ईसा पूर्व और 19 ईसा पूर्व के मध्य में दीवार की सबसे पुरानी परतों का निर्माण किया, क्योंकि इस समय दूसरी बार यहूदी मन्दिर का निर्माण किया जा रहा था। दीवार 1,600 फीट तक फैली हुई है, परन्तु इसके सामने बने घरों की लम्बाई इससे अधिक है। आज विलाप वाली दीवार का दिखाई देने वाला भाग यहूदी क्षेत्र के चारों भागों में से एक भाग में स्थित बड़े मैदान के रूप में पाया जाता है, और 16 वीं शताब्दी से यहूदियों के लिए तीर्थयात्रा और प्रार्थना का स्थान रहा है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि यहूदी सामान्य रूप से शब्द विलाप वाली दीवार का उपयोग नहीं करते हैं, इसके स्थान पर वे पश्‍चिमी दीवार या हा-कोटेल ("दीवार") शब्द को प्राथमिकता देते हैं।

विलाप वाली दीवार की कम से कम सत्रह परतें सड़क के स्तर से नीचे हैं, परन्तु दिखाए देने वाले भाग में पाए जाने वाले बड़े पैमाने पर नीचे लगे हुए पत्थर, जिन्हें तराशे हुए चौकोर पत्थर कहा जाता है, हेरोदेस के समय के हैं। ये विशाल चूना निर्मित पत्थर, जिसमें प्रत्येक का वजन एक और आठ टन के मध्य है, को बहुत अधिक कुशलता के साथ तैयार किया गया था, ताकि वे गारे के बिना ही एक दूसरे के ऊपर पूरी तरह से सही आकार में स्थित हो सकें। यद्यपि, जोड़ों में से कुछ मिट गए हैं, और रूढ़िवादी यहूदियों ने निचले खण्डों में कइयों को लिखित प्रार्थनाओं के साथ भर दिया है। प्रतिदिन, कई यहूदी दीवार के साथ माथा लगाते हुए प्रार्थना करने, उच्चारण करने और दीवार के आगे विलाप करने के लिए इकट्ठा होते हैं। वे प्रतिदिन और सब्त के दिन प्रार्थना करते हैं और बार और बैट मित्ज्वा के पर्वों को मनाते हैं।

विलाप वाली दीवार अपने नाम को पारम्परिक अरबी शब्द से पाती है, एल-मबका ("विलाप का स्थान"), जिसका अर्थ उस दु:ख से है, जिसे यहूदियों ने उनके मन्दिर को खोने पर व्यक्त किया था। 1967 में छह-दिवसीय युद्ध के बाद यहूदियों ने विलाप वाली दीवार शब्द का उपयोग करना बन्द कर दिया है। एक बार जब यरूशलेम पुन: इस्राएल की प्रभुता के अधीन आ गया है, तो यहूदियों ने अधिकारिक स्थिति को अपना लिया कि पश्‍चिमी दीवार विलाप के स्थान पर सामान्य उत्सव का स्थान होना चाहिए।

प्रत्येक वर्ष अगस्त में तिशा बे'एव के दिन, यहूदी अपने आराधकों के साथ दोनों अपने मन्दिर के विनाश की स्मृति में विलाप का उच्चारण करते और शोक मनाने हुए उपवास रखते हैं। पहला मन्दिर, सुलैमान का मन्दिर, उसके शासनकाल में 970-930 ईसा पूर्व में निर्मित किया गया था, और 586 ईसा पूर्व में नेबूकदनेस्सर और बेबीलोनियों के द्वारा नष्ट कर दिया गया था। मन्दिर का पुनर्निर्माण 516 ईसा पूर्व में किया गया था, जिसे 19 ईसा पूर्व में हेरोदेस के द्वारा एक महत्वपूर्ण विस्तार किया गया था। सम्राट टाइटस के अधीन रोमियों ने चार वर्ष से चले आ रहे यहूदी विद्रोह को कुचलने के लिए 70 ईस्वी में हेरोदेस के इस मन्दिर को नष्ट कर दिया था।

सम्राट टाइटस के द्वारा ईस्वी सन् 70 में हेरोदेस के मन्दिर को नष्ट करने की भविष्यद्वाणी मत्ती 24:1-2 और लूका 23:28-31 में यीशु के द्वारा की गई थी। बाइबल में यहूदियों के लिए उनकी जन्मभूमि की बहाली की भी भविष्यद्वाणी की गई है (यहेजकेल 36:24, 33–35)। संयुक्त राष्ट्र के एक प्रस्ताव के द्वारा 15 मई, 1948 को इस्राएल राष्ट्र का पुनर्निर्माण किया गया है।

यद्यपि, यहूदी लोगों को उनके भौगोलिक और राजनीतिक राष्ट्र में पुनर्स्थापित अर्थात् बहाल कर लिया है, तौभी उनके द्वारा परमेश्‍वर के साथ अपनी वाचा के सम्बन्ध को बहाल करना शेष है, क्योंकि उन्होंने अपने मसीह, यीशु मसीह को अस्वीकार कर दिया था। मसीह की इस्राएल के द्वारा अस्वीकृति के परिणामस्वरूप, परमेश्‍वर ने इस्राएल के भौतिक राष्ट्र के साथ अपने काम को अस्थाई रूप से रोक दिया है। इस्राएल को अन्त में पुन: बहाल किया जाएगा, और परमेश्‍वर उससे की गई सभी प्रतिज्ञाओं को पूरा करेगा। आज परमेश्‍वर अपनी कलीसिया के माध्यम से प्रत्येक उसमें चाहे वह - यहूदी या अन्यजाति – है, काम कर रहा है, जो पवित्र आत्मा से प्रेरित है (रोमियों 1:16; 2:28–29)। यीशु मसीह में नई वाचा के युग में, जो यीशु के प्रायश्‍चित बलिदान के माध्यम से क्षमा और उद्धार को प्राप्त करते हैं, वे परमेश्‍वर की सन्तान बन जाते हैं और इस प्रकार उन्हें "अब्राहम का वंश" कहा जाता है (गलातियों 3:26-29)।

English


हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
विलाप वाली दीवार क्या है?