बाइबल में लूका कौन था?


प्रश्न: बाइबल में लूका कौन था?

उत्तर:
बाइबल में लूका और प्रेरितों के काम की पुस्तकों के लेखक लूका के बारे में बहुत कम जानकारी पाई जाती है। हम जानते हैं कि वह नए नियम के अंश को लिखने वाला एक चिकित्सक और अन्यजातियों में आया हुआ एकमात्र मसीही विश्‍वासी था। कुलुस्सियों को लिखा हुआ पौलुस का पत्र लूका और "खतना किए हुए" अन्य सहयोगी यहूदियों के मध्य की भिन्नता को बताता है (कुलुस्सियों 4:11)। लूका ही नए नियम का एकमात्र ऐसा लेखक है, जो स्पष्ट रूप से गैर-यहूदी के रूप में पहचाने जाने योग्य है।

लूका, लूका के सुसमाचार और प्रेरितों के काम की पुस्तक का लेखक था। लूका ने अपनी पुस्तकों में स्वयं का नाम नहीं लिया है, परन्तु पौलुस ने उसका उल्लेख तीन पत्रियों में किया है। लूका और प्रेरितों के काम की पुस्तक को एक ही व्यक्ति, थियोफिलुस को सम्बोधित किया गया है (लूका 1:3; प्रेरितों के काम 1:1)। कोई नहीं जानता कि वास्तव में थियोफिलुस कौन था, परन्तु हम जानते हैं कि लूका का उद्देश्य एक क्रम की दो पुस्तकों को लिखना था, ताकि थियोफिलुस यीशु मसीह के व्यक्ति और कार्य के बारे में निश्‍चितता के साथ जान सके (लूका 1:4)। कदाचित् थियोफिलुस को पहले से ही मसीही धर्मसिद्धान्त की मूल शिक्षा प्राप्त हुई थी, परन्तु वह अभी तक उनमें पूरी तरह से दृढ़ नहीं हुआ था।

लूका पौलुस का एक घनिष्ठ मित्र था, जिसने उसे "प्रिय वैद्य" के रूप में सन्दर्भित किया (कुलुस्सियों 4:14)। कदाचित् लूका की चिकित्सा में रुचि रही होगी, यही कारण है कि उसका सुसमाचार यीशु के चँगाई के कार्यों की अत्यधिक बात करते हुए उच्च सम्मान देता है।

पौलुस ने लूका को एक "सहकर्मी" के रूप में भी सन्दर्भित किया है (फिलोमोन 1:24)। लूका पौलुस की दूसरी मिशनरी यात्रा के समय एशिया माइनर के त्रोआस में पौलुस के समूह में सम्मिलित हुआ था (प्रेरितों के काम 16:6-11)। कुछ विद्वानों का अनुमान है कि लूका "मकिदुनी पुरूष" था, जिसे पौलुस ने अपने स्वप्न में देखा था (प्रेरितों के काम 16:9)। दूसरी मिशनरी यात्रा के समय लूका को फिलिप्पी में छोड़ दिया गया था (प्रेरितों के काम 17:1) और उसे फिर से तीसरी यात्रा में पौलुस के साथ यात्रा करने के लिए समूह में ले लिया गया था (प्रेरितों के काम 20:5)। यरूशलेम और रोम की यात्रा के समय लूका पौलुस के साथ गया था और वहाँ कैद के समय उसके साथ था (2 तीमुथियुस 4:11)। लूका की प्रेरितों के काम अध्याय 27 में पौलुस के साथ की गई यात्रा का जीवन्त वर्णन यह दर्शाता है कि वह अत्यधिक यात्रा किया हुआ और समुद्री मार्ग से परिचित था।

विद्वानों ने उल्लेख किया है कि लूका यूनानी भाषा में अच्छी तरह से पारंगत था। उसकी शब्दावली व्यापक और समृद्ध है, और उसकी शैली कई बार शास्त्रीय यूनानी के अनुरूप है, जैसा कि उसके सुसमाचार की प्रस्तावना में पाया जाता है (लूका 1:1-4), जबकि अन्य समयों में बहुत अधिक सामवादी प्रतीत होती है (लूका 1:5-2:52)। लूका समुद्री यात्रा से परिचित था और उसमें भौगोलिक विवरण लिपिबद्ध करने के लिए विशेष प्रेम था। यह सब इंगित करता है कि लूका एक सु-शिक्षित, अवलोकन करने वाला और सावधान से लिखने वाला लेखक था।

English


हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
बाइबल में लूका कौन था?