क्या यीशु स्वर्ग में एक भौतिक शरीर के साथ है?


प्रश्न: क्या यीशु स्वर्ग में एक भौतिक शरीर के साथ है?

उत्तर:
यीशु का भौतिक रूप से, शारीरिक पुनरुत्थान होना मसीही विश्वास धर्मसिद्धान्त और स्वर्ग की हमारी आशा के लिए मूलभूत है।, क्योंकि यीशु एक भौतिक शरीर के साथ मृतकों से जी उठा, इसलिए यह प्रत्येक मसीही विश्वासी को अपने स्वयं के पुनरुत्थान होने की गारन्टी है (यूहन्ना 5:21, 28; रोमियों 8:23)। अब यीशु स्वर्ग में है, जहाँ उसे अधिकार के स्थान पर परमेश्वर के दाहिने हाथ बैठे हुए चित्रित किया गया है (1 पतरस 3:22)। परन्तु क्या स्वर्ग में यीशु का शरीर पृथ्वी पर उसके शरीर के जैसा है?

बाइबल इस बात पर स्पष्ट है कि यीशु का शरीर फिर से जीवित हो गया था। कब्र खाली थी। वह उन लोगों के द्वारा पहचाना जा रहा था जो उसे जानते थे। यीशु ने अपने पुनरुत्थान के बाद अपने सभी शिष्यों को स्वयं को दिखाया, और पाँच सौ से अधिक लोग उसके सांसारिक, उत्तरोत्तर-पुनरुत्थान की उपस्थिति के प्रत्यक्षदर्शी थे (1 कुरिन्थियों 15:4–6)। लूका 24:16 में, इम्माऊस के मार्ग पर, यीशु के दो शिष्य "[यीशु] को न पहचान सके थे।" यद्यपि, बाद में, "उनकी आँखें खुल गईं; और उन्होंने उसे पहचान लिया" (वचन 31)। ऐसा यह नहीं है कि यीशु पहचाने जाने योग्य नहीं था; ऐसा केवल एक समय के लिए ही था कि, शिष्यों को अलौकिक रूप से उसे पहचाने जाने से रोका गया था।

बाद में लूका के उसी अध्याय में, मसीह ने अपने शिष्यों को यह स्पष्ट कर दिया कि उसके पास एक भौतिक शरीर है; वह एक भंग की हुई आत्मा नहीं है: "मेरे हाथ और मेरे पाँव को देखो कि मैं वही हूँ। मुझे छूकर देखो, क्योंकि आत्मा के हड्डी माँस नहीं होता जैसा मुझ में देखते हो" (लूका 24:39)। अपने शिष्यों के साथ चालीस दिन बिताने के बाद, यीशु शारीरिक रूप से स्वर्ग में चला गया (प्रेरितों 1:9)। यीशु अभी भी मानव है, और उसके पास अभी भी स्वर्ग में एक मानवीय शरीर है। यद्यपि उसका शरीर भिन्न है; सांसारिक मानवीय शरीर नाशवान है, परन्तु स्वर्गीय शरीर नश्वर है (1 कुरिन्थियों 15:50)। यीशु के पास एक भौतिक शरीर है, जिसमें एक भिन्नता है। उसका पुनर्जीवित शरीर अनन्त काल के अनुसार रूपरेखित किया गया है।

पहले कुरिन्थियों 15:35–49 में बताया गया है कि स्वर्ग में विश्वासी का शरीर कैसा होगा। हमारे स्वर्गीय शरीर हम सांसारिक लोगों के शरीर से, वैभव में, सामर्थ्य में और दीर्घायु में भिन्न होंगे। प्रेरित पौलुस यह भी कहता है कि विश्वासी का शरीर मसीह के शरीर का स्वरूप होगा (वचन 49)। पौलुस 2 कुरिन्थियों में इस विषय पर फिर से चर्चा करता है, जहाँ वह सांसारिक शरीरों की तुलना तम्बू और स्वर्गीय शरीर की तुलना स्वर्गीय भवन से करता है (2 कुरिन्थियों 5:1-2)। पौलुस का कहना है कि, सांसारिक तम्बू को हटा दिए जाने के बाद, मसीहियों को "नंगा" नहीं छोड़ा जाएगा — अर्थात् यह शरीर के बिना रहना नहीं होगा (2 कुरिन्थियों 5:3)। जब नया शरीर "पहन लिया जाता है" तो हम मृत्यु से अमरता की ओर चले जाएंगे (2 कुरिन्थियों 5:4)।

इस तरह, हम जानते हैं कि मसीही विश्वासी के पास यीशु के "महिमामयी शरीर" की तरह एक स्वर्गीय शरीर होगा (फिलिप्पियों 3:21)। अपने देहधारण में यीशु ने मानवीय शरीर को ग्रहण किया, और अपने पुनरुत्थान के समय उसके शरीर को महिमान्वित किया गया — यद्यपि इसमें दाग वैसे ही बने रहे थे (यूहन्ना 20:27)। वह सदैव के लिए हमारे लिए ईश्वर-मनुष्य रहेगा, सदैव के लिए बलिदान रहेगा। मसीह, ब्रह्माण्ड का सृष्टिकर्ता, सदैव के लिए हमारे स्तर पर नीचे उतर आया, और वह स्वर्ग में हमारे लिए मूर्त रूप में जाना जाएगा जिसे हम देख, सुन और स्पर्श सकते हैं (प्रकाशितवाक्य 21:3–4; 22:4)।

English


हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
क्या यीशु स्वर्ग में एक भौतिक शरीर के साथ है?

पता लगाएं कि कैसे ...

भगवान के साथ अनंत काल बिताओ



भगवान से क्षमा प्राप्त करें