यीशु किसके जैसे दिखाई देता है?



प्रश्न: यीशु किसके जैसे दिखाई देता है?

उत्तर:
बाइबल मसीह के भौतिक स्वरूप का विवरण बिल्कुल भी प्रदान नहीं करती है। सबसे निकटत्तम बात जिसे हम पाते हैं वह यशायाह 53:2ब में दिया हुआ विवरण है, "उसकी न तो कुछ सुन्दरता थी कि हम उसको देखते, और न उसका रूप ही हमें ऐसा दिखाई पड़ा कि हम उसको चाहते।" यह जो कुछ हमें बताता है वह यह है कि यीशु स्वरूप किसी भी अन्य पुरूष के जैसे ही था — वह साधारण सा दिखने वाला व्यक्ति था। यशायाह भविष्यद्वाणी कर रहा था कि आने वाला दु:ख उठाने वाला सेवक बहुत ही निम्न स्तर से उठेगा और किसी भी सामान्य राजकीय चिन्ह को न पहनते हुए, अपनी सच्ची पहचान को केवल समझने वाली विश्‍वास की आँखों पर ही प्रगट करेगा।

यशायाह इसके अतिरिक्त मसीह के स्वरूप का विवरण ऐसे करता है जैसे कि वह क्रूसीकरण से पहले कोड़े खाने के पश्चात् दिखाई देगा, "उसका रूप यहाँ तक बिगड़ा हुआ था कि मनुष्य का सा न जान पड़ता था और उसकी सुन्दरता भी आदमियों की सी न रह गई थी" (यशायाह 52:14)। ये शब्द अमानवीय क्रूरता का वर्णन करते हैं जिसका सामना उसने इस बिन्दु तक किया था वह अब मनुष्य के जैसे दिखाई ही नहीं देता था (मत्ती 26:67, 27:30; यूहन्ना 19:3)। उसका स्वरूप इतना अधिक डरावना था कि लोगों ने उसे आश्चर्य के साथ देखा।

यीशु के जितने चित्र आज हमारे पास उपलब्ध हैं, उनमें से अधिकांश कदाचित् सटीक नहीं हैं। यीशु एक यहूदी था, इसलिए उसकी चमड़ी के स्याह काले, आँखें स्याह काले रंग वाली और स्याह काले रंग वाले बालों के होने की सम्भावना है। आज के आधुनिक चित्रों के सुनहरे-बालों, नीले-आँखों, और गोरी-चमड़ी वाले यीशु से यह कहीं दूर की बात है। एक बात तो स्पष्ट है : यदि इसे जानना हमारे लिए अति महत्वपूर्ण है कि वह वास्तव में किसके जैसे दिखाई देता था, तब तो मत्ती, पतरस और यूहन्ना जिन्होंने उसके साथ तीन वर्षों का समय व्यतीत किया था, निश्चित रूप से उसके सटीक विवरण को अवश्य देने के योग्य होते, ऐसे ही उसके अपने भाई याकूब और यहूदा भी होते। तथापि, नए नियम के ये लेखक उसके भौतिक स्वरूप के बारे में कोई भी विवरण नहीं देते हैं।

English



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



यीशु किसके जैसे दिखाई देता है?