इसका क्या अर्थ है कि पवित्र आत्मा हमारा पैरक्लीट अर्थात् सांत्वना देनेवाला है?


प्रश्न: इसका क्या अर्थ है कि पवित्र आत्मा हमारा पैरक्लीट अर्थात् सांत्वना देनेवाला है?

उत्तर:
यीशु ने अपने शिष्यों से यह घोषणा की थी कि वह शीघ्र ही उन्हें छोड़ देगा, तब उसने उन्हें इस बड़े प्रोत्साहन वाले कथन को दिया: "मैं पिता से विनती करूँगा, और वह तुम्हें एक और सहायक देगा कि वह सर्वदा तुम्हारे साथ रहे — अर्थात् सत्य का आत्मा" (यूहन्ना 14:16–17)।

यूनानी शब्द पैराक्लीट का अनुवाद "सांत्वना" अथवा सहायक या "परामर्श" अथवा सलाह देने में किया गया है (जैसा कि यूहन्ना 14:16, 26; 15:26; और 16:7 में पाया जाता है)। शब्द का यह रूप निर्विवाद रूप से निष्क्रिय है और इसका अर्थ है "एक व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति का पक्ष लेने के लिए बुलाया जाता है"; इस शब्द में बुलाने के उद्देश्य से एक द्वितीय स्तरीय धारणा पाई जाती है: अर्थात् परामर्श देना या जिसे आवश्यकता है उसे समर्थन देना। यह परामर्शदाता, या पैराक्लीट, परमेश्‍वर पवित्र आत्मा है, त्रिएकत्व का तीसरा व्यक्ति जिसे "हमारी लिए बुलाया गया है।" वह व्यक्ति है, और वह हर विश्‍वासी में वास करता है।

अपनी पार्थिव सेवकाई के समय यीशु ने अपने शिष्यों को निर्देश दिए, सुरक्षा प्रदान की और शिक्षा दी; परन्तु अब, यूहन्ना 14-16 अध्याय में, वह उन्हें छोड़ कर जाने की तैयारी कर रहा है। वह प्रतिज्ञा करता है कि परमेश्‍वर का आत्मा उसके शिष्यों के पास आएगा और उनके स्वामी की सांसारिक उपस्थिति के स्थान को लेगा। यीशु ने आत्मा को "एक और सहायक" कहा — अर्थात् उसी के जैसा एक और। परमेश्‍वर का आत्मा अपने सार में परमेश्‍वर के पुत्र से अलग नहीं है, क्योंकि दोनों ही परमेश्‍वर है।

पुराने नियम के समय में परमेश्‍वर का आत्मा लोगों पर आता था और उन्हें फिर छोड़ देता था। परमेश्‍वर का आत्मा राजा शाऊल से छोड़ कर चला गया था (1 शमूएल 16:14; 18:12)। दाऊद ने अपने पापों का अंगीकार करते हुए याचना की कि उससे आत्मा को वापस न लिया जाए (भजन 51:11)। परन्तु जब पिन्तेकुस्त के दिन आत्मा को दिया गया, तो वह सदैव के लिए परमेश्‍वर के लोगों के साथ रहने के लिए आ गया। हम पवित्र आत्मा को शोकित कर सकते हैं, परन्तु वह हमें नहीं छोड़ेगा। जैसा कि यीशु ने मत्ती 28:20 में कहा था, "मैं जगत के अन्त तक सदा तुम्हारे संग हूँ।" जब वह स्वर्ग में पिता के दाहिने हाथ विराजमान है, तो वह हमारे साथ कैसे हो सकता है? वह हमारे साथ उसके आत्मा (सहायक-पैराक्लीटोस) के द्वारा है।

पवित्र आत्मा कोपैराक्लीट के रूप में रखने के द्वारा परमेश्‍वर स्वयं उसके विश्‍वासियों में वास कर रहा है। आत्मा हमें वचन की शिक्षा देता है और हमें सच्चाई में चलने के लिए मार्गदर्शन देता है। वह हमें स्मरण दिलाता है कि यीशु ने क्या शिक्षा दी है ताकि हम जीवन के कठिन समय में उसके वचन के ऊपर निर्भर रह सकें। आत्मा हमें अपनी शान्ति (यूहन्ना 14:27), अपना प्रेम (यूहन्ना 15:9-10), और अपना आनन्द (यूहन्ना 15:11) देने का काम करता है। वह हमारे मन और हृदय को एक परेशान संसार में विश्राम देता है। निवास करने वाले पैराक्लीट की सामर्थ्य हमें आत्मा के द्वारा जीने की क्षमता प्रदान करती है और "तुम शरीर की लालसा किसी रीति से पूरी न करोगे" (गलतियों 5:16)। तब आत्मा हमारे जीवन में अपने फल (गलतियों 5:22-23) को परमेश्‍वर पिता की महिमा के लिए उत्पन्न कर सकता है। हमारे जीवन में पवित्र आत्मा पैराक्लीट का — हमारे सहायक, हमें उत्साह देने वाले, हमारे परामर्शदाता और हमारे वकील के रूप में होना कितनी बड़ी आशीष की बात है!

English


हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
इसका क्या अर्थ है कि पवित्र आत्मा हमारा पैरक्लीट अर्थात् सांत्वना देनेवाला है?