क्या मसीहियों को पार्टियों या समारोहों में जाना चाहिए? बाइबल पार्टी करने के बारे में क्या कहती है?


प्रश्न: क्या मसीहियों को पार्टियों या समारोहों में जाना चाहिए? बाइबल पार्टी करने के बारे में क्या कहती है?

उत्तर:
इस प्रश्न का संक्षिप्त उत्तर "पार्टी के प्रकार के ऊपर निर्भर करता है।" पार्टियाँ लोकप्रिय इसलिए हैं, क्योंकि वे पुराने मित्रों के साथ मिलने, नए लोगों से मिलने और एक-दूसरे के साथ मिलते हुए सुख को प्राप्त करने और आनन्द प्राप्ति के लिए अवसर होती हैं। मनुष्य होने के नाते, हमें सामाजिक प्राणी की रूपरेखा में निर्मित किया गया है। हम समूहों में रहते हैं, समूहों में काम करते हैं, और समूहों में ही सामाजिकीकरण के कार्य को करते हैं। इसलिए जब हम पार्टी में जाने की इच्छा रखते हैं, तो हम मानवीय सम्पर्क, मनोरंजन और विश्राम की आवश्यकता का उत्तर दे रहे होते हैं। यह सामान्य और स्वाभाविक है।

मसीहियों के लिए, मानवीय वार्तालाप के प्रति इच्छा होना संगति प्राप्त किए जाने की इच्छाशक्ति और आवश्यकता के अतिरिक्त आयाम हैं। नए नियम में शब्द "संगति" का अनुवाद यूनानी शब्द कोइनोनिया से किया गया है, जिसका अर्थ "साझेदारी, भागीदारी, सामाजिक वार्तालाप और संचार" इत्यादि से है। मसीही संगति या सहभागिता के लिए महत्वपूर्ण धारणा "साझेदारी" की है। बाइबल बताती है कि हमें मसीह के साथ (1 कुरिन्थियों 1:9), पिता के साथ (1 यूहन्ना 1:3), और पवित्र आत्मा के साथ (फिलिप्पियों 2:1) संगति (सहभागिता) में बुलाया गया है। यूहन्ना हमें बताता है कि विश्वासियों के नाते, क्रूस पर हमारे लिए बहाए गए लहू के कारण हमारे पास एक दूसरे के लिए संगति पाई जाती है (1 यूहन्ना 1:7)। पौलुस इस विचार को जोड़ता है कि मसीह के साथ संगति उसके दुख का भागी होना है (फिलिप्पियों 3:10)। हमें यह भी चेतावनी दी जाती है कि हमें बुराई के साथ संगति नहीं करनी चाहिए (1 कुरिन्थियों 10:20)। जिस प्रकार प्रकाश और अन्धकार एक दूसरे के प्रति असंगत हैं, उसी प्रकार मसीहियों और पाप के बीच कोई संगति नहीं होनी चाहिए।

इस प्रश्न "क्या मसीहियों को पार्टियों में जाना चाहिए?" के साथ समस्या यह है कि "पार्टियों" के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न सदैव "संगति वाली पार्टी" के लिए नहीं होते हैं। यहाँ तक कि मसीही संगति पर केन्द्रित पार्टियों के बारे में भी प्रश्न पूछने का कोई कारण नहीं पाया जाता है। नहीं, यह प्रश्न सदैव उन पार्टियों के सम्बन्ध में है, जिनमें अत्यधिक शराब पीने, कम आयु के किशोरों के द्वारा शराब पीने, नशा करने और/या सैक्स सम्मिलित होता है। निश्चित रूप से, ऐसे गैर-मसीही पाए जाते हैं, जो निर्दोषता के रूप से पार्टी कर सकते हैं, परन्तु एक पार्टी जिसमें अनैतिक और/या अवैध बातें सम्मिलित हैं, उस से बचना चाहिए। विश्वासियों के रूप में, हम स्वयं को प्रलोभन से यह स्मरण करते हुए बचाते हैं कि, "धोखा न खाना, “बुरी संगति अच्छे चरित्र को बिगाड़ देती है" (1 कुरिन्थियों 15:33)। इसके अतिरिक्त, ऐसी पार्टियों में भाग लेना जहाँ पापपूर्ण गतिविधियाँ होती हैं - भले ही हम उनमें भाग नहीं लेते हैं - हमारी गवाही को कमजोर करती हैं और मसीह के नाम का अपमान करती हैं (रोमियों 2:24)। "हर कोई जो कोई प्रभु का नाम लेता है, वह अधर्म से बचा रहे" (2 तीमुथियुस 2:19)।

ऐसे लोग हैं, जो मसीह को अविश्वासियों के साथ साझा करने के अवसर के रूप में पार्टियों में जा रहे होंगे, और जब तक हमारे पास समय हैं, हमें हमारे भीतर की आशा के लिए उत्तर देने के लिए तैयार रहना चाहिए (1 पतरस 3:15), जो इस बात के पूर्वानुमान के साथ कार्य करते हैं कि पार्टी में पाए जाने वाले अविश्वासी सुसमाचार में रुचि रखते हैं। कदाचित् ही कभी ऐसा अवसर किसी पार्टी में प्रगट होता है, जहाँ शराब पीना, नशीली दवाओं का प्रयोग और यौन गतिविधियाँ सम्मिलित होती हैं। इसलिए, जबकि मसीहियों को अन्य विश्वासियों के साथ संगति के प्रत्येक अवसर का उपयोग करना चाहिए, हमें स्वयं को प्रलोभन से या ऐसा कुछ भी करने के बचने के लिए समझदार होना चाहिए जो मसीह में हमारे जीवन और हमें देखने वाले संसार के साथ हमारी गवाही से समझौता करेगा।

English
हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
क्या मसीहियों को पार्टियों या समारोहों में जाना चाहिए? बाइबल पार्टी करने के बारे में क्या कहती है?