क्या एक मसीही विश्‍वासी शापित हो सकता है? क्या परमेश्‍वर एक विश्‍वासी के ऊपर शाप को आने देगा?



प्रश्न: क्या एक मसीही विश्‍वासी शापित हो सकता है? क्या परमेश्‍वर एक विश्‍वासी के ऊपर शाप को आने देगा?

उत्तर:
बाइबल हमें बताती है, "जैसे गौरैया घूमते-घूमते और सूपाबेनी उड़ते-उड़ते नहीं बैठती, वैसे ही व्यर्थ शाप नहीं पड़ता है" (नीतिवचन 26:2ब)। इसका अर्थ यह है, कि मूर्खता से भरे हुए शापों का कोई प्रभाव नहीं होता है। परमेश्‍वर उसकी सन्तान के ऊपर शाप पड़ने की अनुमति नहीं देता है। परमेश्‍वर सर्वोच्च है। किसी के पास भी किसी ऐसे व्यक्ति को शाप देने की सामर्थ्य नहीं है, जिसे परमेश्‍वर ने आशीष देने का निर्णय ले लिया है। न्याय की घोषणा के लिए परमेश्‍वर ही केवल योग्य है।

बाइबल में “तंत्रों-मंत्रों” को सदैव नकारात्मक रूप से वर्णित किया गया है। व्यवस्थाविवरण 18:10-11 तंत्र-मंत्र करने वाले लोगों की व्याख्या, "प्रभु की दृष्टि में घृणित" अन्य कार्यों को करने वालों के साथ में करता है, जैसे कि बच्चों को होम करके चढ़ानेवाले, भावी कहनेवाले, या शुभ-अशुभ मुहूर्तों के माननेवाले, टोन्हा या तान्त्रिक (मृतक को जगानेवाले) इत्यादि। मीका 5:12 कहता है, कि परमेश्‍वर टोन्हों और तंत्र-मंत्र करने वालों का नाश करेगा। प्रकाशितवाक्य तंत्र-मंत्र को उस धोखे के अंश के रूप में वर्णित करती है, जिसे मसीही विरोधी और "बड़े नगर बेबीलोन" के द्वारा उपयोग किया जाएगा (वचन 21-24)। यद्यपि, अन्तिम-समय का धोखा इतना ज्यादा बड़ा होगा, कि यहाँ तक कि यदि परमेश्‍वर उनकी सुरक्षा नहीं करेगा तो चुने हुए भी धोखे में आ जाएँगे (मत्ती 24:24), परमेश्‍वर अन्त में पूरी तरह से मसीही विरोधी, शैतान और उसका अनुसरण करने वाले सभों को नष्ट कर देगा (प्रकाशितवाक्य अध्याय 19-20)।

एक मसीही विश्‍वासी यीशु मसीह में एक नए व्यक्ति के रूप में नए जन्म को पाया हुआ है (2 कुरिन्थियों 5:17), और हम निरन्तर पवित्र आत्मा की उपस्थिति में बने हुए हैं, जो हमारे भीतर वास करता है और जिसकी सुरक्षा के अधीन हमारा अस्तित्व है (रोमियों 8:11)। हमें किसी भी व्यक्ति की ओर से आने वाले किसी भी तरह के मूर्तिपूजक तंत्र-मंत्र से डरने की कोई आवश्यकता नहीं है। जादू-टोना, तंत्र-मंत्र, जादूगरी के कार्य, और शापों का हमारे ऊपर कोई अधिकार नहीं है, क्योंकि ये सभी शैतान की ओर से आते हैं, और हम जानते हैं कि, "जो [मसीह] तुम में है वह उस से जो [शैतान] संसार में है, बड़ा है" (1 यूहन्ना 4:4)। परमेश्‍वर ने उसके ऊपर जय पा ली है, और हम परमेश्‍वर की आराधना बिनी किसी डर से करने के लिए स्वतंत्र कर दिए गए हैं (यूहन्ना 8:36). “यहोवा परमेश्‍वर मेरी ज्योति और मेरा उद्धार है - मैं किस से डरूँ? यहोवा मेरे जीवन का दृढ़ गढ़ ठहरा है - मैं किस से भय खाऊँ?" (भजन संहिता 27:1)।



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



क्या एक मसीही विश्‍वासी शापित हो सकता है? क्या परमेश्‍वर एक विश्‍वासी के ऊपर शाप को आने देगा?