मसीह का क्या अर्थ है?


प्रश्न: मसीह का क्या अर्थ है?

उत्तर:
कुछ लोगों के आश्चर्य के लिए, "मसीह" यीशु का अन्तिम नाम (उपनाम) नहीं है। शब्द "मसीह" यूनानी शब्द क्रिस्टोस से आया है, जिसका अर्थ है "एक अभिषिक्त" या "चुना हुआ" होने से है। यह इब्रानी भाषा के शब्द मसीऑख़ या "मसीहा" का यूनानी समकक्ष है। "यीशु" नाम स्वर्गदूत जिब्राएल के द्वारा मरियम को प्रभु के लिए दिया गया मानवीय नाम है (लूका 1:31)। "मसीह" उसकी पदवी है, जो यह दर्शाती है कि यीशु को परमेश्वर की ओर से राजा और उद्धारकर्ता के रूप में भेजा गया था (दानिय्येल 9:25; यशायाह 32:1 को देखें)। "यीशु मसीह" का अर्थ है "यीशु मसीहा" या "यीशु जो अभिषिक्त है।"

प्राचीन इस्राएल में, जब किसी को अधिकार दिया जाता था, तो उसके सिर के ऊपर तेल उण्डेला जाता था ताकि वह परमेश्वर की सेवा के लिए अलग होने का संकेत दे सके (जैसे, 1 शमूएल 10:1)। राजाओं, याजकों और भविष्यद्वक्ताओं का अभिषेक इसी तरह से किया गया था। परमेश्वर के चुनाव को इंगित करने के लिए अभिषेक एक प्रतीकात्मक कार्य था (जैसे, 1 शमूएल 24:6)। यद्यपि अभिषिक्त का शाब्दिक अर्थ तेल के अनुप्रयोग को सन्दर्भित करता है, यह परमेश्वर के द्वारा एक व्यक्ति के अभिषेक का भी उल्लेख कर सकता है, चाहे शाब्दिक रूप से तेल का उपयोग क्यों न किया गया हो (इब्रानियों 1:9)।

पुराने नियम में सैकड़ों भविष्यद्वाणी के सन्दर्भ हैं, जो कि एक आने वाले मसीह को सन्दर्भित करते हैं, जो अपने लोगों को छुटकारा देगा (उदाहरण के लिए, यशायाह 61:1; दानिय्येल 9:26)। प्राचीन इस्राएल ने सोचा था कि उनका मसीह उन्हें दशकों की कैद से छुटकारा देने के लिए सांसारिक राजाओं और मूर्तिपूजक देशों के साथ लड़ने के लिए सैन्य शक्ति के साथ आएगा। परन्तु नया नियम यीशु के मसीह के द्वारा प्रदान किए गए — अर्थात् पाप की सामर्थ्य और दण्ड से एक सर्वोत्तम उद्धार को दर्शाता है (लूका 4:18; रोमियों 6:23)।

बाइबल कहती है कि यीशु के ऊपर दो भिन्न स्त्रियों के द्वारा दो भिन्न अवसरों के ऊपर तेल से अभिषेक किया गया था (मत्ती 26:6-7; लूका7:37-38), परन्तु पवित्र आत्मा के माध्यम से सबसे महत्वपूर्ण अभिषेक आया (प्रेरितों के काम 10:38) । यीशु की पदवी "मसीह" का अर्थ यह है कि वह परमेश्वर का अभिषिक्‍त जन है, यह वही है, जो पुराने नियम की भविष्यद्वाणियों को पूरा करता है, यह चुना हुआ उद्धारकर्ता है, जो पापियों को बचाने आया (1 तीमुथियुस 1:15), और राजाओं का राजा है, जो फिर से आने वाला है और अपने राज्य को पृथ्वी के ऊपर राज्य स्थापित करेगा (जकर्याह 14:9)।

English


हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए
मसीह का क्या अर्थ है?

पता लगाएं कि कैसे ...

भगवान के साथ अनंत काल बिताओ



भगवान से क्षमा प्राप्त करें