का ईसु परमेश्वर हावय? का ईशु हर परमेश्वर होय के दावा करिस?



प्रश्न: का ईसु परमेश्वर हावय? का ईशु हर परमेश्वर होय के दावा करिस?

उत्तर:
बाइबिल हमला काही अइसे सुनिश्चित बिवरण नई दे के ईशु हर ये सब्द कहिस हावय के, "मय परमेश्वर हव |" पर फिर भी , ऐकर ऐ अरथ नोहय के ओहर कभो ऐ घोसना नई करे हावय के ओहर परमेश्वर नई हावय | उदाहरन बर युहन्ना 10:30 म ईशु के ऐ बचन ल लेवव, " मय अऊ पिता ऐके हावन | हमन ईशु के ये गोठ के परती करे गए प्रतिक्रिया क ऐ देखे बर करना चाही के ओहर परमेश्वर होय के दावा करे रहीस | येही कारण बर ओमन ओला पथरा फेक के मारना चाहिस | "... तय मनखे होके भी अपन आप ला परमेश्वर बतात हावस (यूहन्ना 10:33)। यहूदी मन पूरा तरीका ले ईशु के कहे के अरथ ल समझ गऐ रहीस मानें के ओकर ईश्वरत्व के दावा ला | धियान देवा के ईशु हर अपन परमेश्वर होय के दावा ला ख़ारिज नई करिस | जब ईशु ऐ घोषना करिस हावय कि "मय अऊ पिता एके हावन" (यूहन्ना 10:30), तव ओ ऐ कहत रहीस कि ओकर अऊ पिता के सुभाव अऊ तत्ब म ऐके हावय | यूहन्ना 8:58 एक अऊ उदाहरन हावय। ईशु हर घोषणा करिस कि, "मय तुमन ला सिरतोन सिरतोन कहत हव, कि पहली एकर के अब्राहम होइस, मय हव !" जेन यहूदी मन ऐ गोठ क सुनीस ओमन के परतिकिया पथरा ल उठा के ऐ निन्दा के कारन ओला पथरा फेक के मारना रहीस, बिल्कुल ओइसने जइसे मूसा के बिवस्था हर ओमन ला आदेश दे रहीस (लैव्यव्यवस्था 24:15)|

यूहन्ना हर ईशु के ईश्वरत्व के धारना ला दोहरावत हावय कि : "बचन परमेश्वर रहीस" अऊ "बचन देहधारी होइस" (यूहन्ना 1:1, 1:14)। य आयत मन बरोबर संकेत देथे कि ईशु हर ही देव रूप मा परमेश्वर हावय | प्रेरित मन के काम 20:28 हमका बतावत हावय के, तुमन परमेश्वर के कलीसिया के रखवारी करव, जेला ओहर अपन लहू ले बिसा ले हावय | जेहर कलीसिया ल बिसा लिए हावय – परमेश्वर के कलीसिया ला – अपन लहू ले बिसा लिए हावय ॽ माने के येशु मसीह हर | प्रेरित मन के काम 20:28 घोषना करत हावय कि परमेश्वर हर ओकर कलीसिया ला अपन लहू ले बिसा लिए हावय | एकरे ले, येशु हर परमेश्वर हावय |

चेला थोमा हर ईशु के बारे म अइसे घोषना करे हावय कि, "हे मोर प्रभु, हे मोर परमेश्वर" (यूहन्ना 20:28)। ईशु हर ओला नइ सुधारिस| तीतुस 2:13 हमला हमर परमेश्वर अऊ मुक्ति देवइया, ईशु मसीह के आगमन के लिए अगोरे बर उतसाहित करत हावय | इब्रानियों 1:8 म, पिता ईशु बर अइसे घोषना करत हावय कि, "परन्तु बेटा के बिषय म कहत हावय कि, 'हे परमेश्वर, तोर सिंहासन जुगजुग ले रही, तोर राज के राजसजा नियाय के राजसजा हावय।" पिता ईशु ला, "हे परमेश्वर" कही के अपन बचन म लिखत हावय जे कारन ईशु ही हर निश्चय परमेश्वर हावय |

प्रकाशितवाक्य म, एक सरगदूत प्रेरित यूहन्ना ल केवल परमेश्वर ल ही दण्डवत् करे बर के लिए निर्देश देथे (प्रकाशितवाक्य 19:10)। पवित्रशास्त्र म कई बार ईशु हर आराधना ला पाइस हावय (मत्ती 2:11, 14:33, 28:9, 17; लूका 24:52; यूहन्ना 9:38)। ओहर लोग मन ल कभू ओकर आराधना करे के लिए नई खीसयाईस| यदि ईशु परमेश्वर नई होतीस, तव ओहर लोग मन ल कही देहे होतीस कि ओमन ओकर आराधना झन करय, ठीक ओइसने जइसे सरगदूत हर प्रकाशितवाक्य म करीस | इहाँ कई अऊ भी आयतें अऊ पवित्रशास्त्र के संदर्भ हावय जेन ईशु के ईश्वरत्व के गवाही देत हावय।

सबले खास कारन कि काबर ईशु ला परमेश्वर होना रहीस वो ये हावय कि यदि ईशु परमेश्वर नई हावय, त ओकर मरना सबो संसार के पापों के डाढ़ के दाम देबर पर्याप्त नई हो सकथीस (1यूहन्ना 2:2)। यदि ओहर परमेश्वर नई होतीस तव ईशु एक ठन बनाए जीव होतीस, ओहर असीमित परमेश्वर के आघु पाप बर मांगे किये गए असीमित डाढ़ ला दे नई सकतिस | केवल परमेश्वर हर ही एक येतका बड़े असीमित डाढ़ ला चूका सकत हावय| केवल परमेश्वर हर येही संसार के पाप मन ला उठा कर ले जा सकथे (2 कुरिन्थियों 5:21), मर सकथे, अऊ जी उठे के दुवारा, मरे अऊ पाप के ऊपर अपन बिजय ला प्रमाणित कर सकत हावय ।



छत्तीसगढ़ही के मुखिय पन्ना पर वापस जावा|



का ईसु परमेश्वर हावय? का ईशु हर परमेश्वर होय के दावा करिस?