उद्धार के योजना / उद्धार क्या मार्ग का है?



प्रश्न: उद्धार के योजना / उद्धार क्या मार्ग का है?

उत्तर:
क आप भूखे हैं? शरिारक रूप से भूखे नही, वरन् का आपके जीपन म कउनो अउ चीज के भूख हवैS? का आपके मन के गहिराई म अईसी कउनो चीज हवै जउ कतो संतुष्ट प्रतित नही होत? यदि इनतना हवै तो, यीशु ही एक मार्ग है! यीशु ने कहा, "जीवन की रोटी मैं हूँ: जे कोउ मोऐ लगे आवत हवै व कतो भूखा न होई, अउ जो कोउ मोही मा विशुवास करत हवै, व कतो पीआसा न होई" (यूहन्ना6:35)।

का तुम उलझन म परे हव? का आपकै जीवन कै बरे आपकों कउनो मार्ग या उद्देश्य नहीं जान परत? का इनतना प्रतित होत हवै जेइसा कउनो डेब्बी बुछा दीन अउ यही जलावऐ कै बरे बटन नही हेर पावत? यदि इनतना है तो, यीशु ही एक मार्ग है! यीशु ने घोषणा केहेन कि, "जगत के ज्योति मैं आहू; जोकोउ मोऐ पाछू होइ लेई व अन्धेरे म चली, पै जीवन के ज्योति पाई" (यूहन्ना 8:12)।

का तुम कतो इनतना महसूस करत हव कि तुम्है जीवन क्या दुआर बन्द होईग? का तुम बहुत सारे दरवाजो का केवल य जानऐ का खटखटाऐ हवो,कि उनके पाछू केवल खाली पन तथा अर्थहीनता हवै? क तुम भरपूरी कै एक जीवन म प्रवेश द्वार कै खोज म हवो? यदि इनतना है तो, यीशु ही एक मार्ग है! यीशु घोषणा करेन हि कि, "द्वार में हूँ; यदि कोउ मोऐ द्वारा भीतरी परवेश करे, तो उद्धार पाई, भीतर बाहेर अई जई अउ चारा पई" (यूहन्ना 10:9)।

का अन्य आदमी तुम्है हमेसा नीचा देखावत ही? क आपके सम्बन्ध सतही अउ थोथले हैं? का आपको इनतना लागत हवै कि हर एक आदमी आपका लाभ उठावै क्या प्रयास करत हवै? यदि इनतना है तो, यीशु ही एक मार्ग है! यीशु कहे कहे रहे, "अच्छा चरवाहा मैं हव; अच्छा चरवाहा भेड़ों कै बरे आपन जान देत है; मैं अपई भेडिन का जानत हवो अउ मोई भेडी मोही जनती है " (यूहन्ना 10:11, 14)।

का तुम आश्चर्य करत हव हि य जीवन कै बाद का हवै? का तुम अपै जीवन क उन वस्तुओं कै बरे यापन करत थक गऐ हओ जउ केवन सरत अउ जंग खा जात हिवै? का तुम्है कई बार सन्देह होत हवै कि जीवन क्या कउनो अथ हवै कि नही? क तुम अपई मृत्यु कै बाद लीऐ चाहत हवो? यदि इनतना है तो, यीशु ही एक मार्ग है! यीशु ने घोषणा की कि, "पुनरुत्थान अउ जीवन मैं हवा;जो कोउ मोही मा विशुवास करत हवै तो यदि व मर भी जई तो भी जी। अउ जो कोउ जीवित हवै अउ मोहि मा विशुवास करत है,व अनन्तकाल तक न मरी" (यूहन्ना11:25-26)

मार्ग क है? सत्य क है ? जीवन क है ? यीशु उत्तर देहेन , " मार्ग अउ सत्य अउ जीवन मै अउ ; बिना मोऐ कउनो पिता कै लगे नही पहुँच सकत " (यूहन्ना 14:6)।

जउ भूख का तुम महसूस करत हवो व एक आत्मिक भूख आऐ , अउ केवल यीशु कै द्वारा ही पूर होई सकत है। एकमात्र यीशु ही है जो अंधेरे क समाप्त कई सकत ही। यीशु एक संतुष्ट जीवन क्या द्वार आही। यीशु एक मित्र अउ चरवाहा हऐ जेहका तुम हेरत रहे हवो। यीशु - य अउ अवै वाऐ संसार कै बरे जीवन हवै। यीशु ही उद्धार का मार्ग है!

व कारन जेइसे तुम भूख क महसूस करत हवो , व कारण जेइसे आपको अन्धेरे म हेरा जाऐ क्या प्रतित होत है , व कारण जेइसे तुम अपै जीवन म कउनो अर्थ नही पउतेओ , य है कि तुम परमेश्वर से अलग होई गऐ हवो (सभोपदेशक 7:20; रोमियों 3:23)। जउ खालीपन क तुम अपै हिरदऐ म महसूस करत हवो व आपके जीवन म परमेश्वर क्या न होब आऐ। हमा रचना परमेश्वर कै साथ सम्बन्ध राखऐ कै बरे कीन बै रही है। पै हमै अपै पाप कै कारन , हम व सम्बन्ध से अलग होइ गावा। यइसे भी बुरा य है कि , हमा पाप हमैं य अउ आगू जीवन म, भी पूरे अनन्तकाल कै बरे परमेश्वर से अलग होऐ क्या कारन बनी (रोमियों 6:23; यूहन्ना 3:36)।

य समस्या क्या हल क होइ सकत है ? यीशु ही एक मार्ग है! यीशु हमा पाप अपै उपर लइ यीशु हमा पाप अपै उपर लइ लेहेन (2कुरिन्थियों 5:21)। यीशु हमैं जगा म (रोमियों 5:8),व दण्ड क लेहे ममर गे ज्याहका भागी दार हम रहवा। तीन दिन कै बाद , यीशु मुर्दों में से,पाप तथा मृत्यु कै उपर अपई जीत क प्रमाणित करत जी उठे (रोमियों 6:4-5)। उ इनतना कहे करेन ? यीशु स्वयं य प्रश्न क्या जवाब देहे ही यईसे बडा प्रेम कोहू क्या नही कि कोउ अपै दोस्त कै खातिर आपन प्राण दे" (यूहन्ना 15:13)! यीशु मरा ताकि हम जी सकें। ; यदि हम यीशु म आपन विशुवास , उनके मृत्यु क हमैं पाप कै बरे चुकाइ हुई कीमत मान लेईत हि तो हमा सब पाप क्षमा होई अउ धो दीन जात ही। तएै हम आपन आत्मिक भूख के संतुष्टि क पा सकबे। फे से बत्तियां जल जई हऐ। हमा पहुॅच एक भरपूर तक होई जई। हम हमै सच्चे उत्तम दोस्त तथा अच्छे चरवाहे क जनब। हम य जानब कि मरै कै बाद हमै पास जीवन होई – यीशु कै साथ अनन्तकाल कै बरे स्वर्ग म एक जी उठा हुआ जीवन!

"कहेसे परमेश्वर ने जगत से इनतना प्रेम राखेन कि उ आपन एक लउता बेटवा दई देहेन,ताकि जो कोउ वमा विशुवास करी व नाश न होई, पै अनन्त जावन पई" (यूहन्ना 3:16)।

जु कुछ आपने हिआ पढे हव का वहिके कारन आपने मसीह कै पाछू चलऐ कै बरे निर्णय लेहे हव ? यदि इनतना है तो कृप्या तरे देहे गे “मैं आज यीशु का स्वीकार कई लेहे हव” वाले बटन क दबावो।



बुन्देलखण्डी क्या मेन पृष्ठ म वापिस आव



उद्धार के योजना / उद्धार क्या मार्ग का है?