बाइबल डायनासोर के बारे में क्या कहती है? क्या बाइबल में डायनासोर का वर्णन है?



प्रश्न: बाइबल डायनासोर के बारे में क्या कहती है? क्या बाइबल में डायनासोर का वर्णन है?

उत्तर:
मसीही समाज में डायनासोर का विषय एक लम्बे समय से चले आ रहे विस्तृत विवाद का भाग है जो कि पृथ्वी पर सदियों से चला आ रहा है, उत्पत्ति की उचित व्याख्या, और हमारे चारों ओर पाए जाने वाले भौतिक प्रमाणों की व्याख्या कैसे किया जाए। जो लोग पृथ्वी को बहुत पुरानी होना मानते हैं वे इस बात पर सहमत होने का झुकाव रखते हैं कि बाइबल में डायनासोर का उल्लेख नहीं है, क्योंकि उनके उदाहरण के अनुसार डायनासोर उससे भी लाखों वर्ष पहले लुप्त हो चुके थे, जब पहले मनुष्य ने पृथ्वी पर कदम रखा था। जिन लोगों ने बाइबल लिखा उन्होंने भी डायनासोर को जीवित नहीं देखा होगा।

जो लोग धरती को अधिक पुराना नहीं मानते हैं उनमें इस सहमति का झुकाव है कि बाइबल डायनासोर का उल्लेख करती है, यद्यपि यह वस्तुतः "डायनासोर" शब्द का प्रयोग नहीं करती है। उसकी जगह यह इब्रानी भाषा के शब्द तानीयेन का प्रयोग करती है, जिसे हमारी अंग्रेजी की बाइबल में कई भिन्न तरीकों से अनुवाद किया गया है। कभी यह "समुद्री दानव" के रूप में है, कभी यह "अजगर" के रूप में है। अधिक बार यह "ड्रैगन" या दैत्य के रूप में अनुवाद किया गया है। ऐसा प्रतीत होता है कि तानीयेन एक विशाल रेंगने वाले जन्तु की तरह ही रहा होगा। पुराने नियम में इस तरह के जन्तुओं का वर्णन लगभग तीस बार किया गया है और यह धरती तथा पानी दोनों में पाये जाते हैं।

इन विशाल रेंगने-वाले जन्तुओं के उल्लेख के साथ-साथ बाइबल कुछ अन्य जन्तुओं का उल्लेख इस प्रकार से करती है कि कुछ विद्वान यह मानते हैं कि उसके लेखक डायनासोर का ही वर्णन कर रहे होंगे। जलगज़ के बारे में कहा जाता है कि वह परमेश्वर के बनाए हुए सारे जीव-जन्तुओं में सबसे विशाल था, एक दैत्याकार जन्तु जिसकी पूँछ देवदार के वृक्ष की तरह थी (अय्यूब 40:15)। कुछ विद्वानों ने जलगज़ को या तो हाथी या दरियाई घोड़े के रूप में पहचानने का प्रयास किया है। अन्य लोगों ने इस बात की ओर संकेत किया है कि हाथियों के और दरियाई घोड़ों के पतली पूँछें होती हैं, जिनकी तुलना किसी भी रूप में देवदार के वृक्ष से नहीं की जा सकती। दूसरी तरफ, डायनासोर की जातियों जैसे ब्राशीओसौरस और डिप्लोडोकस की विशाल पूँछें थीं जिनकी तुलना देवदार के वृक्ष से आसानी से की जा सकती है।

लगभग सभी प्राचीन सभ्यताओं में किसी न किसी प्रकार की कला को दर्शाते हुए विशाल रेंगने वाले जन्तु रहे हैं। चट्टानों पर तराशी हुई, मनुष्य निर्मित, यहाँ तक कि छोटी-छोटी मिट्टी की कलाकृतियाँ जो उत्तरी अमरीका में पाई गई हैं वे डायनासोर के आधुनिक चित्रण से मेल खाती हैं। दक्षिण अमरीका में चट्टानों की नक्काशी मनुष्यों की डिप्लोडोकस-जैसे जन्तुओं, और आश्चर्यजनक तरीके से, ट्राईसेराटॉप्स-जैसे और पट्रोरोडेक्टल-जैसे और टाईरानोसौरस रेक्स-जैसे जन्तुओं की सवारी का चित्रण करती हैं। रोमी फर्श की पच्चीकारी, मायान के मिट्टी के बर्तन और बाबुल नगर की दीवारें, सब के सब, मनुष्य की संस्कृति-से-परे, भौगोलिक रूप से मुक्त इन जन्तुओं के प्रति आकर्षण का प्रमाण देती है। सौम्य वृतान्त जैसे कि मार्को पोलो का 11 मिलिओन, खजाना जमा करने वाले पशुओं के आकर्षित कहानियों के साथ घुल मिल जाती हैं। डायनासोर और मनुष्य के सह-अस्तित्व के लिए पर्याप्त मात्रा में मानव-सम्बन्धी और ऐतिहासिक प्रमाणों के साथ-साथ, अन्य भौतिक प्रमाण भी हैं, जैसे कि मानव और डायनासोर के पुराने पड़ चुके जीवाश्मीय पदचिन्ह उत्तरी अमरीका और पश्चिमी-मध्य एशिया में इकट्ठे पाये गए हैं।

इसलिये, क्या बाइबल में डायनासोर का उल्लेख है? इस विषय का निपटारा होना पहुँच से बहुत दूर है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि उपलब्ध प्रमाणों का आप कैसा अर्थ निकालते हैं और आप अपने चारों ओर के संसार को किस रूप में देखते हैं। यदि बाइबल की शाब्दिक व्याख्या की जाए, तो पृथ्वी बहुत अधिक पुरानी नहीं है, की व्याख्या निकल कर आएगी, और यह विचार कि डायनासोर और मनुष्यों का सह-अस्तित्व स्वीकार्य हो सकता है। यदि डायनासोर और मनुष्यों का सह-अस्तित्व था, तो फिर डायनासोर के साथ क्या हुआॽ जबकि बाइबल इस विषय के ऊपर चर्चा नहीं करती है, डायनासोर नाटकीय वातावरणीय परिवर्तन के मिश्रण के कारण आई बाढ़ के कारण कुछ समय बाद मर गए, और सच्चाई यह है कि वे खत्म होने की कगार तक मनुष्य की निर्ममता के शिकार हो गए।



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



बाइबल डायनासोर के बारे में क्या कहती है? क्या बाइबल में डायनासोर का वर्णन है?