सुहबत के बारे में किताब-ए-मुक़द्दस या’नी के बाइबल क्या कहती है? क्या गन्दी शहवत एक गुनाह है?



सवाल: सुहबत के बारे में किताब-ए-मुक़द्दस या’नी के बाइबल क्या कहती है? क्या गन्दी शहवत एक गुनाह है?

जवाब:
किताब-ए-मुक़द्दस या’नी के बाइबल लगातार से हमें बताती है कि गन्दी शहवतें गुनाह का एक काम है (पैदाइश 19:1-13; अहबार 18:22; रोमियों 1:26-27; 1 कुरिन्थियों 6:9)। रोमियों 1:26-27 ख़ासकर हमें तालीम देती है कि गन्दी शहवतें ख़ुदावन्द का इन्कार करने और उसकी हुक्म नाफ़रमानी का नतीजा है। जब लोग लगातार गुनाह और बे-ईमानी में बने रहते हैं, तो ख़ुदावन्द उन्हें और भी ज्यादा बुरा और गंदे गुनाह "के मातहत कर" देता है ताकि वे ख़ुदावन्द से अलग ज़िन्दगी के बातिल होने और मायूसी को देख सकें। 1कुरिन्थियों 6:9 ऐलान करती है कि गन्दी शहवतों की वज़ह से "नाइन्साफ़" या मुज़रिम ख़ुदावन्द की हुकूमत के वारिस नहीं होंगे।

ख़ुदावन्द एक शख़्स की ख़िलक़त सुहबती ख़्वाहिशों के साथ नहीं करता है। किताब-ए-मुक़द्दस या’नी के बाइबल हमें बताती है कि लोग अपने गुनाहों की वज़ह से सुहबती बन जाते हैं (रोमियों 1:24-27) और आख़िर में अपनी खुद की ख़्वाहिश की वज़ह से। एक शख़्स ज़्यादा सोहबती ताज़ियत के साथ पैदा हो सकता है, ठीक उसी तरह से जैसे कुछ लोग तशद्दुद और कई तरह के गुनाहों के साथ पैदा होते हैं। ये किसी भी तरह से उस शख़्स को गुनाह से भरी हुई ख़्वाहिशों का इन्तख़ाब करने के लिए इन्हें सही ठहराने के लिए ऐसा कोई बहाना नहीं देता। अगर कोई शख़्स गुस्से की ज्यादा ताज़ियत के साथ पैदा हो, तो क्या यह उसे यह हक़्क दे देता है कि वह अपने को इन ख़्वाहिशों को पूरा करने के लिए दे दे। ठीक ऐसा ही कुछ गन्दी शहवतों के साथ सच्च है।

हालाँकि, किताब-ए-मुक़द्दस या’नी के बाइबल गन्दी शहवतों को किसी और गुनाह से ज्यादा "बेहतरीन" नहीं बताती है। सारे के सारे गुनाह ख़ुदावन्द के खिलाफ़ जुर्म हैं। 1 कुरिन्थियों 6:9-10 में गन्दी शहवतें कई गुनाहों में से एक है के तौर पर होने की ख़बर देता है जो एक शख़्स को ख़ुदावन्द की हुकूमत से दूर रखेंगी। किताब-ए-मुक़द्दस या’नी के बाइबल के मुताबिक, ख़ुदावन्द की मुआफी एक सुहबत करने वाले लिए ठीक उसी तरह से मौजूद है जैसे कि वह एक ज़िनाकार, मूरत की तम्जीद करने वाले, क़ातिल, चोर, वगैरहा के लिए है। ख़ुदावन्द गुनाह के ऊपर है, जिसमें गन्दी शहवतों भी शामिल है, फ़तह की ताकत का वायदा, भी वह उन सबके साथ करता है जो अपनी नजात के लिये यि'सू मसीह में ईमान लाते हैं (1कुरिन्थियों 6:1; 2कुरिन्थियों 5:17; फ़िलिप्पियों 4:13)।



हिन्दुस्तानी के खास सफ़े पर वापस जाइए



सुहबत के बारे में किताब-ए-मुक़द्दस या’नी के बाइबल क्या कहती है? क्या गन्दी शहवत एक गुनाह है?