शरीर के ऊपर छाप लगाने/गोदने के बारे में बाइबल क्या कहती है?



प्रश्न: शरीर के ऊपर छाप लगाने/गोदने के बारे में बाइबल क्या कहती है?

उत्तर:
पुराने नियम की व्यवस्था ने इस्राएलियों को यह आज्ञा दी थी कि, "मुर्दों के कारण अपने शरीर को बिल्कुल न चीरना और न उसमें छाप लगाना; मैं यहोवा हूँ" (लैव्यव्यवस्था 19:28)। इसलिए, यद्यपि आज के समय में विश्वासी पुराने नियम की व्यवस्था के अधीन नहीं हैं (रोमियों 10:4; गलातियों 3:23-25; इफिसियों 2:15), परन्तु सच्चाई यह है कि शरीर के ऊपर छाप लगाने के विरुद्ध दी गई आज्ञा कुछ प्रश्नों को उठाती है। नया नियम इस विषय में कुछ नहीं कहता कि एक विश्वासी को शरीर पर छाप लगानी चाहिये या नहीं।

शरीर पर छाप या गोदने के सम्बन्ध में, एक अच्छी जाँच यह निर्धारण करना है कि, क्या हम ईमानदारी से, अच्छे विवेक के साथ, परमेश्वर से कह सकते हैं कि वह इस विशेष कार्य के ऊपर आशीष दे और इसे अपने अच्छे उद्देश्यों के लिए प्रयोग करे। "इसलिए तुम चाहे खाओ, चाहे पीओ, चाहे जो कुछ करो, सब कुछ परमेश्वर की महिमा के लिये करो" (1कुरिन्थियों 10:31)। नया नियम शरीर पर छाप लगाने या इसे गोदने के विरुद्ध में कोई आज्ञा नहीं देता है, परन्तु साथ ही यह हमें विश्वास करने का कोई कारण भी नहीं देती कि परमेश्वर हमें शरीर पर छाप लगाने या इसे गोदने देना चाहेगा।

उन विषयों पर जिन पर बाइबल कुछ विशेष रूप से नहीं बताती एक महत्वपूर्ण पवित्रशास्त्रीय सिद्धान्त यह है कि यदि संदेह का कोई स्थान हो जिससे परमेश्वर प्रसन्न होगा या नहीं, तो अच्छा यही होगा कि उस कार्य को न किया जाए। रोमियों 14:23 हमें स्मरण दिलाता है कि जो कुछ विश्वास से नहीं आता वह पाप है। हमें यह स्मरण रखने की आवश्यकता है कि हमारी देह, और इसी के साथ हमारे प्राणों को भी, छुटकारा दिया गया है और ये परमेश्वर से सम्बन्धित हैं। यद्यपि 1कुरिन्थियों 6:19-20 सीधे रूप से शरीर पर छाप लगाने या इसे गोदने के ऊपर लागू नहीं होता, परन्तु फिर यह एक सिद्धान्त देता है, "क्या तुम नहीं जानते कि तुम्हारी देह पवित्र आत्मा का मन्दिर है; जो तुम में बसा हुआ है और तुम्हें परमेश्वर की ओर से मिला है, और तुम अपने नहीं हो? क्योंकि दाम देकर मोल लिये गए हो, इसलिए अपनी देह के द्वारा परमेश्वर की महिमा करो।" इस महान सत्य का इस बात से वास्तविक सम्बन्ध होना चाहिये कि हम अपने शरीर के साथ क्या करते हैं और कहाँ जाते हैं। यदि हमारी देह परमेश्वर से सम्बन्धित है, तो हमें निश्चित करना चाहिए कि हमारे पास "इसके ऊपर" छाप लगाने या इसे गोदने से पहले उसकी उचित "अनुमति" प्राप्त है ।



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



शरीर के ऊपर छाप लगाने/गोदने के बारे में बाइबल क्या कहती है?