अंत के समयो की भविष्यवाणीयो के अनुसार क्या होने वाला है?



प्रश्न: अंत के समयो की भविष्यवाणीयो के अनुसार क्या होने वाला है?

उत्तर:
बाइबल मे अंत के समयो के विषय मे कहने के लिए बहुत कुछ है। बाइबल की लगभग हर एक पुस्तक में अंत समयो की भविष्यवाणी है। इन सब भविष्यवाणीयो को लेकर सुव्यवस्थित करना कठिन हो सकता है। बाइबल बताती है कि अन्त के समयो मे क्या होने वाला है उसका एक बहुत संक्षिप्त सार नीचे रेखाकित किया है ।

यीशु मसीह सभी नया-जन्म प्राप्त किए हुए विश्वासीयों को उठा लेगा उस घटना मे जिसको ‘ मेघारोहण ’ यानि बादलो मे उठाया जाना कहते है (थिस्सलुनीकियो 4:13-18, कुरिन्थियो 15:51-54)। यीशु मसीह के न्याय सिहासन पर ये विश्वासी जन अपने पृथ्वी पर समय के दौरान किये गए भले कार्यो और विश्वासयोग्यता से की गई सेवा के लिए पुरस्कृत किये जाएगे या फिर अपनी सेवा और आज्ञाकारिता की कमी के कारण इन पुरस्कारो को खो देगे, परन्तु अनन्त जीवन नही (1 कुरिन्थियो 3:11-15, 2 कुरिन्थियो 5:10)।

मसीह विरोधी (वह पशु) प्रभुत्व मे आ जाएगा और इसराएल के साथ सात वर्षो के लिए वाचा बॉधेगा (दानियल 9:27)। यह सात वर्षो का समयकाल “विपत्ति के समय” के नाम से जाना जाता है। विपत्ति के समय मे, भंयकार युद्व, अकाल, महामारीया और प्राकृतिक विपत्तियॉ आएगी। परमेश्वर अपना क्रोध पाप, बुराई और दुष्टता पर उंडेलेगा। विपत्ति के समय मे ऐपोकलीपस के चार घुडसवारो का प्रगट होना और न्याय की सात मुहरे, तुरहियॉ और कटोरो सम्मिलित है।

सात वर्षो के आधे समय मे, मसीह विरोधी इसराएल से श्शन्ति की वाचा को तोड डालेगा और उसके विरूद युद्व करेगा। मसीह विरोधी “उजाडने वाला घृणित” कार्य करेगा और यरूशलेम का मन्दिर जिसका पुन: निर्माण किया जाएगा उसमे उपासना किये जाने के लिए अपनी मूरत खड़ी करेगा (दानियल 9:27; 2 थिस्सलुनीकियो 2:3-10)। विपत्तिकाल का दूसरा हिस्सा “महाकलेश” के नाम से जाना जाता है (प्रकाशित्वाक्य 7:14) और “याकूब के कष्ट का समय” (यिर्मयाह 30:7)।

विपत्तिकाल के सात वर्षो के अंत मे मसीह विरोधी यरूशलेम पर अन्तिम आक्रमण करेगा, तब अरमागिदोन का युद्व होगा। यीशु मसीह वापस आएगे, मसीह विराधी को और उसकी सेनाओ का नाश करेगे, और उन्हे आग की झील मे डाल देगे। (प्रकाशितवाक्य 19:11-12)। फिर यीशु मसीह शैतान को 1000 वर्षो के लिए अतह कुण्ड मे डाल देगे और वह इस 1000 वर्षो मे पृथ्वी पर अपना पर राज्य करेगे (प्रकाशितवाक्य 20:1-6)।

1000 वर्षो के अन्त मे, शैतान को छोड दिया जाएगा, दुबारा हराया जाएगा और फिर अनन्त काल के लिए आग की झील मे डाल दिया जाएगा (प्रकाशितवाक्य 20:7-10)। यीशु मसीह बडे श्वेत सिहांसन पर बैठकर सब अविश्वासियों का न्याय करेगे, और उन्हे आग की झील मे डाल देगे। इसके उपरान्त यीशु मसीह, एक नये आकाश और नयी पृथ्वी और एक नये यरूशलेम को बनाएगे विश्वसीयो का अनन्त काल का निवास स्थान। फिर न पाप न दुख और न मृत्यु होगी (प्रकाशितवाक्य 21-22)।



हिन्दी पर वापस जायें



अंत के समयो की भविष्यवाणीयो के अनुसार क्या होने वाला है?