क्या पालतू / जानवर स्वर्ग में जाते हैं? क्या पालतू / जानवरों में आत्मा होती है?



प्रश्न: क्या पालतू / जानवर स्वर्ग में जाते हैं? क्या पालतू / जानवरों में आत्मा होती है?

उत्तर:
बाइबल इस विषय में कोई स्पष्ट शिक्षा नहीं देती है कि पालतू / जानवरों के पास "प्राण" हैं या पालतू / जानवर स्वर्ग जाएंगे। यद्यपि, हम पवित्रशास्त्र के कुछ सामान्य बाइबल आधारित सिद्धान्तों को लेकर इस विषय के ऊपर कुछ प्रकाश डाल सकते हैं। बाइबल कहती है कि परमेश्वर ने दोनों मनुष्य (उत्पत्ति 2:7) और जानवरों (उत्पत्ति 1:30; 6:17; 7:15, 22) में "जीवन की साँस" फूँकी; जिस कारण, मनुष्य और जानवर दोनों जीवित प्राणी हैं। मनुष्य और जानवरों के मध्य मूलभूत भिन्नता यह है कि मनुष्य परमेश्वर के स्वरूप और उसकी समानता में बनाया गया है (उत्पत्ति 1:26-27), जबकि जानवर नहीं। परमेश्वर के स्वरूप और समानता में बनाए जाने का अर्थ है कि मनुष्य परमेश्वर जैसा है, जिसमें आत्मिकता की योग्यता, बुद्धि, भावना और इच्छा के साथ, और उनके अस्तित्व में रहने का अंश है जो मृत्यु के पश्चात भी बना रहता है। यदि पालतू/जानवरों में "प्राण" या तत्वहीन पहलू होता, तो उसे भिन्न और कम "गुणों" वाला होना चाहिए था। इस भिन्नता का सम्भवतः अर्थ यह है कि पालतू/जानवरों के "प्राण" मृत्यु के बाद नहीं बने रहते।

एक अन्य ध्यानयोग्य तथ्य यह है कि परमेश्वर ने उत्पत्ति के समय अपनी सृष्टि की प्रक्रिया के एक भाग के रूप में जानवरों को रचा था। परमेश्वर ने जानवरों को बनाया और कहा कि यह अच्छा है। (उत्पत्ति 1:25)। इसलिए, कोई भी ऐसा कारण नहीं है कि क्यों नई पृथ्वी पर जानवर नहीं हो सकते (प्रकाशित वाक्य 21:1)। परमेश्वर के सहस्त्रशताब्दी राज्य में निश्चित रूप से जानवर होंगे (यशायाह 11:6; 65:25)। यह निश्चित रूप से कहना असम्भव है कि इन जानवरों में से कुछ पालतू होंगे जैसे कि वे हमारे पास यहाँ धरती पर हैं। हम यह जानते हैं कि परमेश्वर न्यायी है और यह कि जब हम स्वर्ग में जाएंगे तब हम अपने आपको उसके इस विषय पर निर्णय से चाहे वह जो भी हो पूर्णतया सहमत पायेंगे ।



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



क्या पालतू / जानवर स्वर्ग में जाते हैं? क्या पालतू / जानवरों में आत्मा होती है?