क्या ईश्वर ऐ ? क्या ईश्वर दे बजूद दा कोई सबूत ऐ ?




सुआल : क्या ईश्वर ऐ ? क्या ईश्वर दे बजूद दा कोई सबूत ऐ ?

जबाब :
ईश्वर दे बजूद गी स्वीकार जां नकारेआ नेईं जाई सकदा ऐ। बाईबल दा गलाना ऐ जे असेंगी पूरी शरधा कन्नै ओह्दे बजूद गी स्वीकार करना चाहिदा ऐ, ते बिना शरधा ते विश्वास दे ओह्दी कृपा पाना असान कम्म नेईं। कीजे जो बी ओह्दी शरण च आइयै ओह्दे पर विश्वास करदा ऐ, सच्चे दिलै कन्नै विश्वास करने पर उसी इनाम बी जरूर थ्होंदा ऐ। (हिब्रू 11:6) अगर ईश्वर चाह्न्दा ते प्रतक्ख तौरै उप्पर प्रगट होइयै अपने बजूद गी साबत करी दिंदा जे ओह् ऐ, पर अगर ओह् इ’यां करदा तां बी ओह्दे पर विश्वास करने आह्ली कोई गल्ल नेईं। इ’यां यीशु गलांदे न, की जे तूं मिगी दिक्खेआ ऐ तूं मेरे पर विश्वास करना ऐं, उनेंगी बी मेरा शीरबाद देआं जि’नें मिगी नेईं दिक्खेआ ते अजें मेरे पर विश्वास नेईं करदे हैन। (जान 20:29)

एह्दा एह् मतलब नेईं जे ईश्वर दा बजूद ऐ गै नेईं। बाईबल च लिखे दा ऐ, पूरे ब्रम्हांड नै ओह्दे गौरव गी स्वीकार कीते दा ऐ। आसमान ने एह् घोशत कीते दा ऐ जे ओह्दा बजूद ओह्दे हत्थें च ऐ। दिन-ब-दिन ओह् अपनी अमृत बरखा कन्नै उसी निहाल करदा रौंह्दा ऐ। इत्थें कोई बी भाशा जां बाणी ऐसी नेईं ऐ जेह्ड़ी ओह्दी अवाज नेईं सुनी सकदी ऐ। ओह्दी अवाज इक कोने शा लेइयै धरती दे चारों कोने तगर गूंजदी रौंह्दी ऐ। (स्लाम 19:1-4) तारें आह्ल दिक्खो, ब्रम्हांड दे बस्तार गी समझने दी कोशश करो, कुदरत दे नजारें गी ध्यान कन्नै दिक्खो, सूरज डुब्बने दे खूबसूरत दक्ख गी दिक्खो, एह् सब उस परम पिता दे बजूद गी स्वीकार करने लेई काफी नेईं न।“ एह् गल्ल ते सच्च ऐ जे ईश्वर हर इक माह्नू दे हिरदे च बास करदा ऐ। सीलट्स 3:11 च दसदा ऐ “ एह् ते शास्वत सच्च ऐ जे ओह् हर इक माह्नू दे हिरदे च बास करदे न। अगर अस गैह्राई च जाइयै सोचने आं तां असेंगी लगदा ऐ जे साढ़े जीवन जां इस पूरी कायनात पिच्छें कोई न कोई अद्भुत शक्ति ऐ। इस गल्लै गी ते अस कदें बी नकारी नेईं सकदे जे ईश्वर इस सृश्टि दे कण-कण च विद्यामान ऐ। एह्दे बावजूद बी किश लोक ओह्दे बजूद गी नकारदे न। ओह् मूर्ख समझदे न उंदे हिरदे च ईश्वर नांऽ दी कोई चीज बास नेईं करदी ऐ। (स्लाम 14:1) आदिकाल शा लेइयै अज्ज तगर लोक मती सारी संस्कृतियें ते सभ्यताएं च हर एक महाद्वीप च ईश्वर दे बजूद गी स्वीकार करदे आए न, आखर किश न किश ते ऐ जेह्ड़ा उंदे इस विश्वास गी कायम रक्खै करदा ऐ।

ईश्वर दे बजूद गी लेइयै बाईबल च दित्ती गेदी दलीलें दे लावा होर बी केईं तार्किक दलीलां न, जिंदे च सारे शा पैह्ले ते तात्विकीय दलील ऐ। तात्विकीय दलील सारें शा बद्ध ईश्वर दे बजूद गी सिद्ध करने लेई बरती जंदी ऐ। एह् ईश्वर दी इस परिभाशा शा शुरू होंदी ऐ जे अस उस शा बड्डी चीजै दी कल्पना बी नेईं करी सकनेआं। इसलेई एह् इस गल्लै दी दलील पेश करदी ऐ जे जेह्ड़ी बड्डी चीज हून ऐ उस शां बड्डी चीज होर कोई नेईं पैदा होई सकदी ऐ। आखर साढ़ी कल्पना दी डुआरी कुतै न कुतै जाई ते रूकदी ऐ ते जित्थें साढ़ी कल्पना रूकदी ऐ उ’यै ईश्वर ऐ। अगर ईश्वर दा बजूद नेईं होंदा तां साढ़ी कल्पना दी सोच बी ईश्वर पर जाइयै रूकी नेईं जंदी, जेह्ड़ी ईश्वर दे बजूद दा खंडन करदी ऐ।

ईश्वर दे बजूद गी लेइयै दूई दलील प्रयोजन परक कन्नै सरबंधत ऐ। इस दलील दे अनुसार ब्रह्मांड अद्भुत शक्तियें कन्नै बने दा, ते भरोचे दा ऐ। इस आस्तै इस बनाने आह्ला बी इनें शक्तियें कन्नै भरीचे दा ऐ। उदाह्रण दे तौर उप्पर अगर धरती सूरज शा किश सौ मील बी इद्धर-उद्धर होई जा तां एह् धरती मानव जीवन लेई अनुकूल नेईं होग। अगर साढ़े बातावरण च मजूद कणें दी मात्तरा जरा बी घट्ट-बद्ध होई जा तां लगभग हर इक प्राणी खत्म होई जा।

ईश्वर दे बजूद गी लेइयै त्री दलील उत्पत्ति सिद्धांत गी लेइयै ऐ। हर इक प्रभाव दा कोई न कोई कारण होंदा ऐ। एह् ब्रह्मांड बी उस्सै प्रभाव कारण बजूद च आया ऐ। इस प्रभाव गी करोआने आह्ल कोई न कोई ते होंदा ऐ जिस कारण एह् सारा किश बजूद च औंदा ऐ। खीर च आखर इत्थें किश न किश ते ने’आ ऐ, जेह्ड़ा इस प्रभाव दा कारण बनियै सारा किश बजूद च आह्नदा ऐ। इस्सै कारण गी बजूद च आह्नने आह्ला ईश्वर ऐ।

चौथी दलील नैतक दलील ऐ। आदिकाल शा लेइयै हर संस्कृति च नैतक कनूनें दा पालन होंदा आया ऐ। हर कुसै गी चंगे जां माड़े कर्म दा ग्यान ऐ। हत्या, झूठ बोलना, चोरी करना, अनैतक कम्म करना सामूह्क तौर उप्पर बर्जत ऐ। एह् चंगे माड़े दा ग्यान कुत्थूं हासल होआ, अगर ईश्वर शा नेईं तां कुत्थूं ?

एह्दे बावजूद बी बाईबल असेंगी दसदी ऐ तां बी लोक ईश्वर दे बजूद ते ओह्दी शक्तियें गी कि’यां नकारदे न। ओह् सिर्फ इसी इक छलावा मात्तर समझियै नकारदे न। रोमन 1:25 च घोशत कीता गेदा ऐ “उ’नें ईश्वर दे सच्चे रूप गी झूठ च बदली ओड़े दा ऐ, ते उसी पूजने दे बदले च ओह् उस आसेआ बनाई गेदी चीजें गी पूजदे न जेह्दी असें सदा आस्तै पूजा करनी चाहिदी ऐ! अमीन” बाईबल एह् बी घोशना करदी ऐ जे माह्न् गल्तियां कीते बगैर ईश्वर पर विश्वास नेईं करदा ऐ, की जे इस दुनिया दी बनावट ईश्वर दी अद्भुत शक्तियें चा इक ऐ। ओह्दी शाश्वत शक्तियें ते रूहानी ताकत गी अस प्रतक्ख तौरे पर दिक्खी सकनेआं, एह् सोचियै जे एह् सारा किश कि’यां बनेआ ऐ, इस आस्तै माह्नू गलतियें बगैर कबूल नेईं करदा ऐ। (रोमन 1:20).

लोक इस बुनयाद उप्पर बी ईश्वर दे बजूद गी नकारदे न जे एह् विग्यानक तौर उप्पर स्हेई नेईं ऐ। कीजे एह्दा कोई सबूत नेईं ऐ। पर सच्चाई ते एह् ऐ जे अगर इक बारी ओह् मन्नन लगी पौङन जे ईश्वर दा बजूद ऐ, ओह् बी शरधा कन्नै उसी मन्नन लगी पौङन ते सोचङन उनेंगी बी माफी दी लोड़ ऐ। अगर ईश्वर ऐ तां असेंगी ओह्दे दरबार च जाने शा पैह्ले अपने चंगे-माड़े कर्म दा स्हाब-कताब रक्खना चाहिदा ऐ।

अगर ईश्वर नेईं ऐ तां असेंगी अपनी मन-मर्जी दे मताबक कर्म करदे होई एह् सोचना चाहिदा ऐ जे असेंगी कु’न दिक्खै करदा ऐ। इस आस्तै मते सारे जेह्ड़े ईश्वर दे बजूद गी नकारदे न, आह् हर चीजै दे प्राकृतक उद्भव सिद्धांत दा अनुसरन करदे न, एह् उनेंगी इक बक्ख दिशा प्रदान करदी ऐ, ईश्वर च विश्वास करने दा। ईश्वर ऐ ते हर कोई जानदा ऐ जे ओह्दा बजूद ऐ। सच्चाई ते एह् जे जि’यां किश लोक जि’न्ने मजबूत दावे कन्नै ओह्दे बजूद गी नकारदे न, बास्तव च ओह् उ’न्नै गै जोंरै कन्नै ओह्दे बजूद गी लेइयै दावे गी मजबूत करदे न।

अस कि’यां जानी सकनेआ जे ईश्वर दा बजूद ऐ, ईसाई होने दे नाते अस जानने आं जे अस रोजाना ओह्दे कन्नै गल्लां करनेआं। अस उसी अपने-आप कन्नै गल्लां करदे प्रतक्ख तौरे उप्पर सुनी नेईं सकदे पर अस अपने आलै-दुआलै ओह्दे बजूद गी मैह्सूस करी सकनेआं, अस ओह्दे हिरखै गी मैह्सूस करी सकनेआं, अस ओह्दी दया चाह्न्ने आं। जो किश साढ़े जीवन च घटै करदा ऐ इस शां बड्डा ओह्दे बजूद दा कोई सबूत नेईं होई सकदा, ईश्वर ने साढ़े उप्पर कृपा करियै इस आस्तै नेईं बचाया जे उसी बदले च उसी किश देई सकचै बल्के अस सिर्फ ओह्दे बजूद दा गुणगान करी सकचै। इं’दे चा कोई बी तर्क ने’आ नेईं ऐ जेह्ड़ा कुसै गी प्रेरत करी सकै जे जो किश ऐ उसी मन्नने शा इंकार करै। खीर च अस इ’यै आखी सकनेआं जे असेंगी ईश्वर दे बजूद गी पूरी शरधा कन्नै स्वीकार करना चाहिदा ऐ। (हिब्रू 11:6) ईश्वर उप्पर विश्वास करना न्हेरे खूह् च छाल मारने आह्गंर नेईं ऐ, बल्के इक नेह् कमरे च कदम रक्खने दे बरोबर ऐ जित्थें पैह्लें गै केईं लोक ओह्दी कृपा ते दया दे पात्तर बनियै सफल ते सार्थक जिंदगी बक्खी गैंह् पुट्टै करदे न।



डोगरी दे मुक्ख पन्ने पर बापस जाओ



क्या ईश्वर ऐ ? क्या ईश्वर दे बजूद दा कोई सबूत ऐ ?